Breaking News
.

नारेबाजी और हंगामे के बीच श्रद्धांजलि, कांग्रेस ने किया बहिर्गमन, आदिवासी दिवस को लेकर तीखी नोकझोंक भी हुई…

भोपाल। विधानसभा के पावस सत्र के पहले दिन दिवंगत सदस्यों को श्रद्धांजलि दी गई। धन गली के दौरान मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के सदस्य लगातार हंगामा करते रहे। विपक्षी सदस्यों ने गर्भ गृह में आकर नारेबाजी की और बहिर्गमन भी किया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ के बीच आदिवासी दिवस को लेकर तीखी नोकझोंक भी हुई। इस बीच मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि 15 नवंबर को बिरसा मुंडा के जन्म दिवस पर मध्यप्रदेश में समारोह आयोजित होगा और इस दिन अवकाश भी घोषित किया जाएगा।

सदन की कार्रवाई सोमवार सुबह ठीक 11: 00 बजे राष्ट्र गीत के साथ हुई। राष्ट्रगीत समाप्त होते ही कांग्रेस के बाला बच्चन और विजयलक्ष्मी साधो ने आरोप लगाया कि सरकार आदिवासी विरोधी है। आज विश्व आदिवासी दिवस है लेकिन मध्यप्रदेश में अवकाश नहीं है। इसको लेकर हंगामा होता रहा और आसंदी पर बैठे सभापति यशपाल सिसोदिया ने निधन का उल्लेख किया। इसमें 3 सदस्य वर्तमान विधानसभा के सदस्य जुगल किशोर बागरी, बृजेंद्र सिंह राठौर और कलावती भूरिया भी शामिल थे। जब सभापति दिवंगत सदस्यों के नाम ले रहे थे तभी विपक्षी दल के सदस्य गर्भ ग्रह में आ गए और नारेबाजी करने लगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान जब दिवंगत सदस्यों को श्रद्धांजलि दे रहे थे तब कांग्रेस ने वॉकआउट कर दिया। मुख्यमंत्री ने सदन में कहा कि कांग्रेस श्रद्धांजलि में भी राजनीति कर रही है। नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने कहा कि आदिवासी दिवस को समाप्त किया गया है मैं उसे भी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। हंगामे के बीच मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी आदिवासियों की सच्ची हितैषी है और हम 15 नवंबर को भगवान बिरसा मुंडा की जयंती पर जनजाति गौरव दिवस मनाएंगे उस दिन अवकाश भी रहेगा। काफी नोकझोंक के बाद कमलनाथ ने भी दिवंगत लोगों को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद सदन की कार्रवाई मंगलवार सुबह तक के लिए स्थगित कर दी गई।

कांग्रेस विधायक ओमकार सिंह मरकाम पारंपरिक आदिवासी वेशभूषा में आए थे। सदन के बाहर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आरोप लगाया कि प्रदेश की भाजपा सरकार ने आदिवासियों का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि आज सिर्फ मध्यप्रदेश का आदिवासी दिवस नहीं बल्कि विश्व आदिवासी दिवस है। इसके जवाब में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पत्रकारों से कहा कि कांग्रेस ने श्रद्धांजलि के कार्यक्रम को बाधित करने का काम किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि आज कांग्रेस ने भ्रम फैलाकर घटिया और इस तरह राजनीति की है आदिवासियों के नाम पर कांग्रेश घड़ियाली आंसू बहा रही है।

error: Content is protected !!