Breaking News
.

बांग्लादेशी लड़कियों का तस्कर गिरफ्तार- बोला- मैंने की 75 शादियां, 200 से ज्यादा बांग्लादेशी लड़कियां भारत में बेचीं …

भोपाल/इंदौर. मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर से चौंकाने वाली खबर है. बांग्लादेशी लड़कियों का तस्कर मुनीर उर्फ मुनीरुल एसआईटी की गिरफ्त में है. उसने अधिकारियों के सामने हैरान करने वाला खुलासा किया है. वह बांग्लादेश से 200 से ज्यादा लड़कियों को भारत में अवैध रूप से ला चुका है. उसने सभी लड़कियों को देह व्यापार में धकेल दिया. 200 में से 75 लड़कियों से तो उसने खुद शादी की है. आरोपी 5 साल से यह काम कर रहा है. एसआईटी ने उसे उसे सूरत से गिरफ्तार किया था.

उल्लेखनीय है कि इंदौर पुलिस को मुनीर की तलाश लंबे समय से थी. इसलिए उस पर 10 हजार रुपये का इनाम भी रखा गया था. आरोपी बांग्लादेश के जसोर में रहता है. लड़कियों को फंसाने के लिए वह किसी भी तरह का हथकंडा अपनाता है. यहां तक कि शादी भी कर लेता है. शादी करके फिर भारत लाकर बेच देता है. भारत में लड़कियों को पहले कोलकाता लाया जाता था. यहां उन्हें बेहतरीन रहन-सहन और लाइफ स्टाइल बदलने की ट्रेनिंग दी जाती. ट्रेनिंग के बाद उन्हें फिर मुंबई भेजा जाता. यहां उन्हें दोबारा ट्रेंड किया जाता. ट्रेनिंग के बाद जिस शहर से भी लड़कियों की मांग होती, उन्हें वहां भेज दिया जाता.

आरोपी ने पुलिस को बताया कि लड़कियों को भारत लाना आसान नहीं है. उन्हें दोनों देशों के पोरस बॉर्डर पर लाकर नाले से पार कराया जाता. बॉर्डर पार करते ही लड़कियां छोटे से गांव पहुंच जातीं, यहां कई एजेंट सक्रिय हैं, जो लड़कियों को मुर्शिदाबाद और आसपास के ग्रामीण इलाकों में लाते हैं. लड़़कियों को कहीं भेजने से पहले उनके फोटो लिए जाते हैं. इन फोटोज को सब जगह भेज दिया जाता है. जब लड़कियों को मुंबई भेजने की बारी आती तो उनके दस्तावेज रखवा लिए जाते हैं. लोग लड़की की आंखों से उनके बांग्लादेशी होने का अंदाज लगाते हैं. इन लड़कियों को सूरत के स्पा सेंटर्स के अलावा इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, पुणे, बेंगलुरु भी भेजा जाता है.

गौरतलब है कि इंदौर पुलिस को मुनीर की तलाश 11 महीनों से थी. क्योंकि, पुलिस ने उस वक्त लसूड़िया और विजय नगर इलाकों में  सेक्स रैकेट के खिलाफ ऑपरेशन चलाया था. इस दौरान पुलिस ने 15 लड़कियों को भी पकड़ा था. उनसे मिली जानकारी पर सागर उर्फ सैंडो, आफरीन आमरीन सहित कई अन्य पर मामले दर्ज किए गए थे. उस वक्त मुख्य आरोपी मुनीर भाग निकला था.

error: Content is protected !!