Breaking News
.

किसान महापंचायत के जननेता राकेश टिकैत बोले- मोदी सरकार को देनी होगी वोट से चोट, मोदी-शाह को बताया बाहरी …

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के जीआईसी मैदान में आज किसान महापंचायत जारी है। देशभर से सैकड़ों किसानों का सैलाब इसमें हिस्सा लेने के लिए पहुंचा है। महिलाएं भी बढ़-चढ़कर अपनी उपस्थिति दर्ज करवा रही है। महापंचायत के मद्देनजर सुरक्षा की दृष्टि से चप्पे-चप्पे पर पुलिसबल तैनात हैं। संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले किसान कृषि कानूनों के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करने के लिए यहां इकट्ठा हुए हैं। माना जा रहा है कि महापंचायत में अगले साल यूपी और उत्तराखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी को हराने के लिए भी रणनीति बन सकती है। इससे घबराकर जननेता राकेश टिकैत की फेसबुक आईडी बंद करवा दी गई है।

इस महापंचायत में देशभर के 300 से ज्यादा सक्रिय संगठन शामिल हुए हैं। बीकेयू नेता राकेश टिकैत महापंचायत के मंच पर मौजूद हैं। वे थोड़ी देर में महापंचायत को संबोधित करेंगे। इसके अलावा कई बड़े किसान नेता भी मंच पर बैठे हुए हैं।

राकेश टिकैत ने कहा कि हम शहीद हो जाएंगे लेकिन मोर्चा डटा रहेगा। हमारा आंदोलन खत्म नहीं होगा। हमें गन्ने का भाव 450 रुपये कुंतल चाहिए। हम गाजीपुर से नहीं उठेंगे। कृषि बिलों की वापसी तक घर नहीं जाएंगे। सरकार को वोट से चोट देनी होगी। इस दौरान टिकैत ने मोदी-शाह को बाहरी बताया। वहीं संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा कि 9 और 10 सितंबर को लखनऊ में मोर्चे की बैठक होगी। जीआईसी मैदान में लगभग दो लाख किसान मौजूद हैं।

महापंचायत के मंच से बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने कहा कि ये महापंचायत पूरे देश में होगी। हमें देश को कने से बचाना है। हमारी मांग रहेगी कि देश, किसान, व्यापार और युवा बचे। जब तक सरकार तीनों कानून को वापस नहीं लेगी, तब तक आंदोलन चलता रहेगा। मोदी-योगी की सरकार झूठी है। किसानों की आय दोगुनी नहीं हुई।

बीकेयू का आरोप है कि फेसबुक ने राकेश टिकैत की आईडी को बंद कर दिया है। मोदी सरकार ने उनकी आईडी बंद करवाई है। बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने कहा, ‘जब भारत सरकार हमें बातचीत के लिए आमंत्रित करेगी, हम जाएंगे। जब तक सरकार हमारी मांगें पूरी नहीं करती तब तक किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। आजादी का संघर्ष 90 साल तक चला था, ऐसे में मुझे नहीं पता कि यह आंदोलन कब तक चलेगा।’

error: Content is protected !!