Breaking News
.

टीका लगवाने नए-नए बहाने बना रहे लोग : जाओ पहले जाकर सबूत लाओ कि सीएम ने वैक्सीन लगवाई है, तभी मैं वैक्सीन लगवाऊंगा…

भोपाल। एंटी कोरोना वैक्सीन लगाने के दौरान टीम को कई तरह के वाकयों और अनुभव से गुजरना पड़ रहा है. मध्यप्रदेश के बैतूल में गुरुवार को ऐसी स्थिति बनी कि वॉलिंटियर्स भी उलझन में पड़ गए. यहां एक युवक ने वैक्सीन लगवाने से पहले शर्त रख दी कि पहले उसे सीएम शिवराज का टीका लगाने का सबूत दिखाइए.

 

बैतूल में वैक्सिनेशन के लिए ग्रामीणों को प्रेरित करने गए वॉलेंटियर्स के सामने बड़ी अजीब स्थित बन गई. यहां एक युवक इस बात पर अड़ गया कि पहले उसे ये सबूत दिया जाए कि सीएम शिवराज सिंह चौहान ने वैक्सीन लगवाई है. सबूत मिलने के बाद ही वो वैक्सीन लगाएगा. वॉलेंटियर्स ने भी शर्त रख दी कि अगर उसे सबूत दिखा दिया तो उसे अपने सारे साथियों के साथ वैक्सीन लगवानी पड़ेगी. आखिरकार, युवक को सीएम के वैक्सिनेशन से जुड़े सबूत दिखाए गए, तब युवक राजी हुआ.

 

खुद तो टीका लगवा नहीं रहा था, दोस्तों को भी रोक लिया था

जाओ पहले जाकर सबूत लाओ कि सीएम शिवराज सिंह चौहान ने वैक्सीन लगवाई है, तभी मैं वैक्सीन लगवाऊंगा. ये कहना था बैतूल के मूचगोहान गांव के उस युवक का, जो खुद वैक्सीन नहीं लगवा रहा था और अपने 10 दोस्तों को भी रोक रखा था. जब वॉलेंटियर्स को ये खबर मिली तो वो इस युवक को समझाने पहुंचे. लेकिन यहां तो युवक अजीब सी शर्त पर अड़ गया. वॉलेंटियर्स ने भी सब्र से काम लिया. उन्होंने भी ये शर्त रख दी कि अगर उन्होंने साबित कर दिया कि सीएम ने वैक्सीन लगवा ली है तो उसे अपने साथियों के साथ वैक्सीन लगवाना होगी.

 

सीएम के वैक्सीनेशन के सबूत देने के बाद मान गया युवक

वॉलेंटियर्स ने कुछ ही मिनटों में युवक को सीएम के वैक्सिनेशन से जुड़ी मीडिया रिपोर्ट्स सबूत के तौर पर दिखाईं, तब कहीं जाकर युवक माना और वैक्सिनेशन के लिए तैयार हुआ. साथ ही उसने अपने 10 साथियों को भी वैक्सीन लगवाने का वादा किया.

 

वॉलेंटियर्स के सामने रोज आ रही हैं नयी चुनौती

ये तो बात थी केवल एक युवक की, लेकिन ग्रामीण इलाकों में अभी भी ऐसे हजारों लोग हैं जिनके पास वेक्सिनेशन से बचने के सौ बहाने तैयार हैं. वॉलेंटियर्स पूरी कोशिश कर रहे हैं कि समय रहते ज्यादा से ज्यादा लोग वैक्सीन लगवा दें. इसके लिए लोगों की कॉउंसलिंग करने के लिए कुछ समाजसेवी संगठनों से मदद ली है. ताकि, वैक्सिनेशन कार्यक्रम में तेजी आ सके. लेकिन लोग अब भी बहाने बनाकर खुद को सुरक्षा चक्र से दूर रखकर अपनी और सबकी जान खतरे में डाल रहे हैं.

error: Content is protected !!