Breaking News
.

राजस्व प्रकरणों के त्वरित निराकरण के लिए उमेश्वरपुर में गठित होगी नवीन उप तहसील: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

रायपुर । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अपने भेंट-मुलाकात अभियान के पांचवें दिन प्रेमनगर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम नवापाराकला में आयोजित सभा में ग्रामीणों से चर्चा के दौरान उनके आग्रह पर क्षेत्र में विकास कार्यों और जन-सुविधाओं से जुड़ी अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं की। मुख्यमंत्री ने नवापाराकला गेजी मार्ग में गेज नदी पर नए पुल के निर्माण की घोषणा की। उन्होंने प्रेमनगर-उमेश्वरपुर क्षेत्र में लो-वोल्टेज की समस्या के निराकरण एवं निर्बाध रूप से विद्युत आपूर्ति के लिए नये विद्युत सब-स्टेशन की स्थापना, राजस्व प्रकरणों के त्वरित निराकरण एवं प्रशासनिक कसावट के लिए उमेश्वरपुर में नवीन उप तहसील के गठन की घोषणा की। इसके साथ ही मुख्यमंत्री बघेल ने पेयजल की समस्या से जूझ रहे गांवों में सौर ऊर्जा चलित पम्प के माध्यम से पेयजल की सुविधा देने, प्रेमनगर के उच्चतर माध्यमिक स्कूल केे लिए नवीन भवन, चौरी पहाड़ स्थित देवस्थल में सुविधाओं के विस्तार, मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना के तहत किए जाने वाले कार्यों की स्वीकृति की भी घोषणाएं की। मुख्यमंत्री ने कहा कि जहां आवश्यकता होगी वहां सौर ऊर्जा चलित पम्प के माध्यम से सिंचाई सुविधा का विस्तार किया जाएगा।

मुख्यमंत्री बघेल ने आमजनता से भेंट-मुलाकात कार्यक्रम में कहा कि मैं यह जानने  निकला हूं कि शासन की योजना का लाभ आमजन को मिल रहा है या नहीं। उन्होंने कहा कि सभी पात्र लोगों को नियमों के तहत अभियान चलाकर वन अधिकार मान्यता पत्र वितरित किए जाए। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद पहली बार रिकॉर्ड 98 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी हुई। छत्तीसगढ़ में धान का जितना मूल्य मिल रहा है उतना पूरे देश में कहीं नहीं है। उन्होंने कहा कि हमने गौ-माता की सेवा की है, गोबर खरीद रहे हैं और आगे गौमूत्र भी खरीदेंगे। गौमाता की तरह हमें धरती माता की भी सेवा करनी है, इसके लिए खेतों में वर्मी कम्पोस्ट का उपयोग करना होगा जिससे जमीन की उर्वरा शक्ति बढ़ेगी।

भेंट-मुलाकात अभियान के दौरान प्रेमनगर विकासखण्ड सरपंच संघ के अध्यक्ष पुष्पेंद्र मरकाम ने पंचायत प्रतिनिधियों का मानदेय बढ़ाने और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए कल्याणकारी योजनाएं लागू करने पर मुख्यमंत्री बघेल को संघ की ओर से धन्यवाद दिया।

मुख्यमंत्री ने सरपंच संघ के अध्यक्ष द्वारा पंचायत के कार्यों में कमीशन की शिकायत पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसी कोई पर्टिकुलर शिकायत हो तो बताएं, इसकी जांच करा के कार्यवाई की जाएगी। ईओडब्ल्यू, थाने या स्वयं उनसे या जनप्रतिनिधियों से इसकी शिकायत की जा सकती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं विश्वास दिलाता हूं कि इसकी जांच कराकर कार्यवाई की जाएगी।

नवापाराकला की दसवीं की छात्रा सुश्री यशोदा ने महतारी दुलार योजना का लाभ मिलने पर मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। यशोदा ने बताया कि कोरोना से उनकी मां की मृत्यु हो गयी थी। इस योजना की वजह से उसकी पढ़ाई निर्बाध रूप से जारी है। सुश्री यशोदा अपनी मां के इच्छा अनुरूप शासकीय सेवक के रूप में अपना भविष्य संवारना चाहती हैं। उन्होंने छत्तीसगढ़ के निवासियों के लिए पीएससी एवं व्यापम के अभ्यर्थियों के शुल्क माफी के लिए राज्य शासन द्वारा लिए गए निर्णय पर भी मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।

कार्यक्रम के दौरान नवापाराकला के किसान रामभगत ने मुख्यमंत्री बघेल को बताया कि गोधन न्याय योजना के तहत गोबर बेचकर उन्हें इस साल लगभग 40 हजार रूपए की आमदनी हुई है। मुख्यमंत्री द्वारा पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि उनके पास 15 से 20 मवेशी है।

मुख्यमंत्री को केदारपुर के किसान अमरजीत कुर्रे ने बताया कि उन्हें डेयरी की सब्सिडी अब तक नहीं मिली है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आपका नाम और गांव नोट कर लिया है। जो भी गड़बड़ी किया है उस पर कार्रवाई होगी। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को तत्काल सब्सिडी देने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने नवापाराकला गौठान की महिला स्व-सहायता समूह की महिलाओं से मुलाकात कर समूह की महिलाओं के द्वारा बनाए जा रहे झाड़ू, टोकरी एवं अन्य स्थानीय उत्पादों की जानकारी ली। गोधन न्याय योजना लागू करने के लिए स्व-सहायता समूह की महिलाओं ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का आभार व्यक्त किया। उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि इस योजना के संचालन से उनकी आर्थिक तंगी दूर हुई है, और उन्हें रोजगार मिला है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज अपने भेंट-मुलाकात अभियान के पांचवें दिन प्रेमनगर विधानसभा के ग्राम नवापाराकला पहुंचे। उन्होंने नवापाराकला उप स्वास्थ्य केंद्र का औचक निरीक्षण कर अस्पताल में उपलब्ध चिकित्सकीय सुविधाओं, वार्ड में सफाई एवं उपकरणों का जायजा लिया। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य केंद्र के अधिकारियों से केंद्र में उपलब्ध दवाइओं के बारे में भी जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से केन्द्र में होने वाले संस्थागत प्रसव की संख्या, ओपीडी रजिस्टर एवं मरीजों के इलाज के लिए बनने वाली पर्ची की भी जानकारी ली।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रेमनगर विकासखण्ड के तीन ग्राम पंचायतों में लगभग 4 करोड़ 27 लाख रूपए की लागत के विभिन्न कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। बघेल ने प्रेमनगर में 2.5 करोड़ की लागत से नवीन सामुदायिक भवन, ग्राम कोटेया में 1.5 करोड़ रूपए की लागत से बनने वाले प्री-मैट्रिक बालक छात्रावास भवन का शिलान्यास और 27.2 लाख की लागत से ग्राम महंगई में बने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का लोकार्पण किया।

error: Content is protected !!