Breaking News
.

बिजली बिल के 3 करोड़ रुपए के गबन मामले में सहायक अभियंता सहित 5 आरोपियों पर अपराध दर्ज …

बिलासपुर। सरगुजा जिले के सीतापुर विद्युत विभाग में 2 करोड़ 94 लाख रुपए से अधिक राशि के गबन मामले में सीतापुर पुलिस ने सहायक अभियंता सहित पांच के खिलाफ अपराध दर्ज किया है। विद्युत देयकों की राशि विद्युत वितरण कंपनी के खाते में जमा न कर गबन करने की जांच विद्युत वितरण कंपनी उप संभाग बतौली के सहायक अभियंता आशुतोष कुजूर द्वारा की गई। जांच प्रतिवेदन के आधार पर पुलिस ने यह कार्रवाई की है।

सीतापुर थाना प्रभारी रूपेश नारंग ने बताया कि विभागीय जांच में 2 करोड़ 94 लाख 29 हजार 482 रुपए के गबन की पुष्टि होने पर एफआईआर के लिए आवेदन दिया गया था। जांच में खुलासा हुआ है कि आरोपियों द्वारा बिल वसूली की राशि को सिस्टम में पंच कर दिया जाता था, लेकिन उस राशि को क्षेत्रीय लेखा कार्यालय के बैंक खाते में जमा नहीं की जाती थी। सालभर की जांच के बाद अब इस मामले में अपराध दर्ज किया गया है। आरोपियों ने पैसे कहां किए अब पुलिस पूछताछ में सामने आएगी।

सीआरए जमा पावती का रजिस्टर से मिलान करने पर अनियमितता पाई गई है। सीतापुर पुलिस ने आरोपी सहायक यंत्री राजेंद्र कुमार पन्ना, कार्यालय सहायक गणेश प्रसाद सिंह, अरविंद सागर, सुनील केरकेट्टा व कम्प्यूटर ऑपरेटर श्रीकांत खलखो के खिलाफ धारा 120 बी, 409 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है। पुलिस आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी करेगी। रुपए को आरोपियों ने कहां खर्च किए यह पुलिस की जांच में पता चलेगा।

विद्युत विभाग के सहायक अभियंता एवं अन्य कर्मियों द्वारा दो करोड़ 94 लाख से अधिक की राशि का गबन अप्रैल 2019 से नवंबर 2020 के बीच किया गया था। विद्युत विभाग ने जब ऑडिट कराई तो इस गड़बड़ी का खुलासा हुआ। विभाग के सहायक अभियंता सहित अन्य कर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया था। अब केस दर्ज होने के बाद निलंबित सहायक अभियंता सहित इन बिजली कर्मियों की जल्द गिरफ्तारी होगी। 

error: Content is protected !!