Breaking News
.

चुनाव के दौरान शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने पर कांग्रेस नेता राकेश पात्रे के खिलाफ दर्ज हुआ एफआईआर

मुंगेली (अजीत यादव)। जनपद पंचायत मुंगेली में अध्यक्ष-उपाध्यक्ष पद के चुनाव के दौरान शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने पर कांग्रेस नेता राकेश पात्रे के खिलाफ पीठासीन अधिकारी चित्रकान्त सिंह ने सिटी कोतवाली थाने में एफआईआर दर्ज कराया है।

पीठासीन अधिकारी का आरोप है कि राकेश पात्रे ने शासकीय कार्य में बाधा, ड्यूटी में तैनात पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों को गाली गलौच और अधिकारियों को बस्तर ट्रांसफर करा देने की धमकी दी थी। पुलिस ने कांग्रेस नेता पात्रे के खिलाफ लोक प्रतिनिधित्व अधि.1951 की धारा 127, 294, 186, 353 के तहत एफआईआर दर्ज किया है।

ये है शिकायत के मुख्य बिन्दु…

जनपद पंचायत मुंगेली के अध्यक्ष पद की निर्वाचन के दौरान राकेश पात्रे कांग्रेस नेता के द्वारा निर्वाचन कार्य में तैनात सुरक्षा अधिकारियों तथा तेजराम पटेल, अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) मुंगेली, आशीष अरोरा, थाना प्रभारी मुंगेली एवं अमित कुमार सिन्हा, तहसीलदार मुंगेली, आरएस नायक, मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जनपद पंचायत मुंगेली तथा उमाकांत जायसवाल, नायब तहसीलदार मुंगेली के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए अनावश्यक रूप से भद्दी गालियां दी गई। कार्य में बाधा उत्पन्न की गई। साथ ही राकेश पात्रे द्वारा अधिकारियों को बस्तर स्थानांतरित कराने की धमकियां दी गई।

राकेश पात्रे कांग्रेस नेता के द्वारा इसी दौरान मौके पर उपस्थित होकर निर्वाचन जैसे महत्वपूर्ण एवं शासकीय कार्य में गतिरोध उत्पन्न किया गया एवं निर्वाचन प्रक्रिया में हस्तक्षेप किया गया। राकेश पात्रे ने सार्वजनिक तौर पर उपस्थित आम नागरिकों के समक्ष गुंडागर्दी की एवं शांति व्यवस्था को भंग करने की कोशिश की गई।

पीठासीन अधिकारी चित्रकान्त सिंह ने थाने में शिकायत करते हुए घटना को गंभीरता से लेते हुए कांग्रेस नेता राकेश पात्रे के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है। बता दें कि राकेश पात्रे कांग्रेस की टिकट पर मुंगेली विधानसभा से चुनाव लड़ चुके हैं, जहां उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

error: Content is protected !!