Breaking News
.

सीएम ने चेताया, अब सावधान रहने की जरूरत: पीएम मोदी के जन्मदिन पर प्रदेश में वैक्सीनेशन का महाअभियान…

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के कुछ जिलों से संक्रमण को लेकर जिस तरह के संकेत आ रहे हैं, उससे हमें सावधान रहने की जरूरत है। एक दिन पहले प्रदेश में 18 संक्रमित आते थे, लेकिन आज यह संख्या बढ़कर 22 हो गई है। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि वैक्सीन के प्रथम डोज से वंचित रहे नागरिकों को सितम्बर माह अंत तक शत-प्रतिशत वैक्सीनेट किया जाए। आगामी 17 सितम्बर को पीएम नरेंद्र मोदी के जन्म दिवस पर प्रदेश में वैक्सीनेशन का महाअभियान भी चलाया जाएगा। वैक्सीनेशन कार्य में लगातार गति बनाए रखें, जिससे नागरिकों को प्रथम डोज के साथ वैक्सीन का दूसरा डोज भी समय पर लग जाए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में प्रदेश में कोरोना की स्थिति और व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी, स्वास्थ्य आयुक्त आकाश त्रिपाठी, जनसंपर्क आयुक्त डॉ. सुदाम खाड़े और अन्य अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में विभिन्न जिलों से वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से मंत्रीगण भी शामिल हुए। बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा प्रदेश के कुछ जिलों में आए कोरोना के पॉजिटिव प्रकरण यह संकेत है कि हम सावधान हो जाएं। जन-जागरूकता की गतिविधियां लगातार चलाई जाएं और नागरिकों को कोरोना संक्रमण के प्रति सजग और सतर्क किया जाए। जिस भी व्यक्ति को स्वास्थ्य संबंधी कोई दिक्कत है, अस्पताल जाकर परामर्श लेना चाहिए। प्रतिदिन कुछ पॉजिटिव केस जिन जिलों में आ रहे हैं, ऐसे प्रकरणों पर निगाह रखी जाए। श्री चौहान ने कहा कि क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्य और प्रभारी मंत्री परस्पर संवाद कर संक्रमण की स्थिति का जायजा लेते रहें। इसे खतरे की घंटी मानें और सभी सावधान रहें। सीएम ने सागर और जबलपुर कलेक्टर से चर्चा की और उनके जिलों में आए पॉजिटिव प्रकरणों के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन मॉनिटरिंग के साथ कांटेक्ट ट्रेसिंग भी की जाए, ताकि आवश्यक उपायों को लागू कर संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

बैठक में जानकारी दी गई कि प्रदेश में विभिन्न मदों से 190 ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने का लक्ष्य है। यह कार्य प्रगति पर है। अब तक 88 संयंत्र लगाए जा चुके हैं। कुल 18 इंस्टॉल हो गए हैं और 40 प्रदाय किए जा चुके हैं। अन्य 44 संयंत्र के कार्य भी प्रगति पर हैं। लोक निर्माण विभाग, यूनिसेफ, पीएम केयर, कोल इंडिया, रेलवे आदि संस्थानों के सहयोग से भी ऑक्सीजन संयंत्र लगाए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीडियो कांफ्रेंस से प्रभारी अधिकारियों से भी चर्चा की। धार, भिंड, सतना और श्योपुर जिले में 50% वैक्सीनेशन कार्य हुआ है। मुख्यमंत्री ने इन जिलों में वैक्सीनेशन कार्य को तेज गति से किये जाने के निर्देश दिये है। इंदौर और भोपाल वैक्सीनेशन में सबसे आगे हैं। आगर मालवा और सीहोर जिले भी 85 से 90 प्रतिशत पात्र नागरिकों का वैक्सीनेशन करवाकर अग्रणी जिलों में शामिल हैं। श्री चौहान ने कहा कि लक्ष्य का 85 से 90 प्रतिशत वैक्सीनेशन कार्य पूर्ण कर चुके जिले शीघ्र ही शत-प्रतिशत लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं और इसके लिए पूरे प्रयास किए जाएं।

error: Content is protected !!