Breaking News
.

सीएम फिर बने गायक: मंच से किशोर कुमार का गाना गाया, संगीत भवन अब किशोर कुमार व मेडिकल कॉलेज नंदू भैया के नाम पर होगा…

खंडवा। खंडवा वो तपोभूमि है, जहां आदिगुरू शंकराचार्य ने आकर तपस्या की। इस जिले में औंकारेश्वर, ममलेश्वर और नर्मदा मैया है। संत सिंगाजी और दादाजी धुनीवाले जैसे संत हैं। आजादी की 75वीं जयंती मनाते हुए खंडवा में माखनलाल जी की कविता का पाठ कर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने घोषणा की कि रविंद्र भवन का नाम सुप्रसिद्ध गायक कलाकार और खंडवा में जन्मे स्व. किशोर कुमार के नाम पर किया जाएगा। यह मांग मंत्री विजय शाह ने कार्यक्रम में की थी।

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान शनिवार दोपहर अपने संक्षिप्त दौरे पर खंडवा आए। यहां उन्होंने नवनिर्मित संगीत कॉलेज का लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि मैं किशोर कुमार के गीतों से प्रेरणा लेता हूं। मंच से उन्होंने किशोर कुमार का गाना ‘रुक जाना नहीं तू कहीं हार के, कांटों पे चल के मिलेंगे साए बहार के…’ भी गुनगुनाया। संगीत संकुल भवन के लोकार्पण के साथ ही उन्होंने हितग्राहियों से वर्चुअल संवाद भी किया। पीएम आवास योजना के नए मकानों का भूमिपूजन और लोकार्पण भी किया। इस मौके पर पीएम स्वनिधि एवं पीएम आवास के 79 हजार 039 हितग्राहियों को 627 करोड़ रुपए का भुगतान सिंगल क्लिक के माध्यम से किया गया। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा, वित मंत्री जगदीश देवड़ा, प्रभारी मंत्री उषा ठाकुर एवं नगरीय प्रशासन एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह भी इस मौके पर मौजूद थे। इससे पूर्व सेंट्रल स्कूल मैदान में बने हेलिपेड पर सीएम उतरे एवं कार्यकर्ताओं से भेंट की। यहां से मुख्यमंत्री का काफिला जिला अस्पताल पहुंचा, जहां खंडवा में बने मेडिकल कॉलेज का नाम नंदकुमारसिंह चौहान शासकीय मेडिकल कॉलेज नामकरण कार्यक्रम एवं ऑक्सीजन प्लांटों का भूमिपूजन किया।

विधायक देवेन्द्र वर्मा ने इस अवसर पर पूर्व सांसद नंदकुमारसिंह चौहान को याद करते हुए कहा कि उनके नाम पर मेडिकल कॉलेज का नामकरण उनकी स्मृति को चिरस्थायी बनाएगा। उन्होंने इस मौके पर खंडवा में बायपास रोड के जल्द निर्माण की बात कही। साथ ही नर्मदा जल के लिए अतिरिक्त पाईप लाईन के लिए फंड देने की मांग सीएम से की। कार्यक्रम में पंधाना विधायक राम दांगोरे, मांधाता विधायक नारायण पटेल सहित नंदकुमारसिंह चौहान के सुपुत्र हर्षवर्धनसिह चौहान, जिलाध्यक्ष सेवादास पटेल भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद दादाजी धुनीवालों के दरबार में मत्था टेकने भी गए।

मुख्यमंत्री के दौरे के समय खंडवा में पहली बार गणेश विसर्जन चल समारोह जैसे बेरिकेड्स पूरे रास्ते में लगाए गए। जिस रास्ते से मुख्यमंत्री को गुजरना था, उससे जुड़े सभी रास्ते सुबह से बंद कर दिए गए, जिससे बाम्बे बाजार, मधुसूदन टाॅवर, सराफा बाजार में आने जाने वालों को भारी परेशानी का सामना कना पड़ा। रास्ते में कोई स्वागत मंच, ज्ञापन इत्यादि का मौका जिला प्रशासन ने नहीं दिया। पूर्व घोषणा के मुताबिक न तो सीएम ने माला पहनी और न ही गुलदस्ता स्वीकार किया, रास्ते में कहीं स्वागत मंच भी इसीलिए नहीं सजाए गए।

खंडवा में मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी अवैध कॉलोनियों को वैध किया जाएगा। हर आदमी जिंदगी भर की कमाई लगाकर मकान बनाता है, लेकिन वह सुविधाएं जुटाने में सक्षम नहीं होता है। इस मौके पर सीएम ने खंडवा जिला प्रशासन एवं जनप्रतिनिधियों को कोरोना की दूसरी लहर को सबसे पहले नियंत्रित करने के लिए बधाई दी। उन्होंने इस मौक पर सभी को सितंबर में शत-प्रतिशत टीकाकरण करने का संकल्प दिलाया।

error: Content is protected !!