Breaking News
.

हसदेव नदी में नहाते वक्त डूबा 10 वीं क्लास का छात्र, 21 घंटे से तलाश जारी…

जांजगीर/ कोरबा। जांजगीर जिले में रविवार को 10वीं का छात्र नदी में डूब गया। उसका सोमवार दोपहर तक कुछ पता नहीं चल सका है। SDRF की टीम पिछले 21 घंटे से उसकी तलाश कर रही है। लड़का परिवार के साथ पिकनिक मनाने के लिए आया था। नहाते वक्त पत्थर में पैर फंसने उसके डूबने की आशंका जताई गई है। मामला पंतोरा चौकी क्षेत्र का है।


जानकारी के मुताबिक, रविवार को कोरबा के दीपका इलाके से आयुष्मान सिंह(15) पिता अशोक प्रवीण सिंह अपने परिवार के साथ जिले के देवरी पिकनिक स्पॉट में पिकनिक मनाने आया था। दोपहर को करीब 1 से 2 बजे के बीच आयुष्मान अपने परिवार के कुछ लोगों के साथ नहाने के लिए नदी में गया था। इसके बाद से उसका कुछ पता नहीं चल सका है।

आयुष्मान के परिजनों के मुताबिक वह पानी में कैसे डूब गया कुछ पता नहीं। साथ में नहाने गए कुछ और लोगों ने आयुष्मान के डूबने की जानकारी परिजनों को दी थी, जिसके बाद पुलिस की टीम को सूचना दी गई। करीब 3 बजे के बाद SDRF (स्टेट डिजास्टर रिस्पांस फोर्स) की टीम मौके पर पहुंची। तब से आयुष्मान का पता लगाया है जा रहा है। एसडीआरएफ की टीम रविवार देर शाम तक उसकी तलाश करती रही थी। मगर आयुष्मान का कुछ पता नहीं चल सका। सोमवार सुबह से एसडीआरएफ की टीम फिर से उसकी तलाश कर रही है।

ये पिकनिक स्पॉट बड़े-बड़े चट्‌टानों से घिरा है। यहीं से हसदेव नदी आगे की ओर बढ़ती है। इसी वजह से आशंका है कि जब आयुष्मान नदी में नहाने के लिए जब कूद होगा तब उसका पैर पत्थर में फंसा होगा, जिसके कारण यह हादसा हुआ। परिजन भी अभी कुछ ज्यादा जानकारी नहीं दे रहे हैं। इससे पहले यहां नदी के पत्थरों में पैर फंसने से कई लोगों की जान जा चुकी है।

आयुष्मान का परिवार कोरबा जिले के दीपका इलाके के परम मित्र नगर बतारी का रहने वाला है। आयुष्मान कोरबा के ही इंडस पब्लिक स्कूल में पढ़ता था। उसके पिता मारुति क्लीन कोल एंड पावर लिमिटेड में डिप्टी मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं। आयुष्मान के डूबने के बाद से ही उसके परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। फिलहाल प्रशासन और पुलिस की टीम भी मौके पर है।

error: Content is protected !!