देश

भाकपा नेता एनी राजा ने कहा- कांग्रेस तय करे कि उसका ‘सबसे बड़ा दुश्मन’ कौन है

नई दिल्ली
राहुल गांधी द्वारा वायनाड सीट खाली करने के बाद वहां से प्रियंका गांधी वाद्रा को पार्टी उम्मीदवार बनाए जाने पर भाकपा नेता एनी राजा ने मंगलवार को कहा कि कांग्रेस नेताओं को यह तय करने की जरूरत है कि उनकी सबसे बड़ी दुश्मन सांप्रदायिक-फासीवादी ताकतें हैं या वामपंथी पार्टियां। हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने वाली एनी राजा ने कहा कि उनकी उम्मीदवारी पर फैसला पार्टी नेतृत्व करेगा।

वायनाड सीट से प्रियंका चुनाव लड़ेंगी
कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने सोमवार को कहा कि राहुल गांधी उत्तर प्रदेश की रायबरेली लोकसभा सीट अपने पास रखेंगे और वायनाड सीट छोड़ देंगे, जहां से उनकी बहन प्रियंका चुनाव लड़ेंगी। इस कदम के बारे में पूछे जाने पर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) की नेता ने ‘पीटीआई-भाषा' से कहा, “यह कांग्रेस पार्टी का फैसला है। हम उनके फैसले का सम्मान करते हैं। यह अच्छी बात है कि यूडीएफ ने महिला उम्मीदवार की घोषणा की है। संसद में महिलाओं की संख्या कम होती जा रही है। सभी राजनीतिक दलों को इस बारे में चिंता करने की जरूरत है।”

एनी राजा ने कहा, “यूडीएफ ने महिला उम्मीदवार घोषित किया है, मैं इसका स्वागत करती हूं। लेकिन यह सवाल मैंने तब भी उठाया था जब राहुल गांधी चुनाव लड़े थे, मैं आज प्रियंका गांधी से पूरे सम्मान के साथ यह सवाल पूछ रही हूं। आपके और आपकी पार्टी के लिए सबसे बड़ा दुश्मन कौन है? सांप्रदायिक-फासीवादी ताकतें या वामपंथी पार्टियां?” एनी राजा ने कहा कि हालांकि लोकसभा में राजग का संख्या बल कम हो गया है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि सांप्रदायिक-फासीवादी ताकतें कमजोर हो गई हैं।

वाम लोकतांत्रिक मोर्चा की हर पार्टी INDIA गठबंधन का हिस्सा है
उन्होंने कहा, “वाम लोकतांत्रिक मोर्चा की हर पार्टी विपक्षी गठबंधन ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस' (‘इंडिया') का हिस्सा है, मैं यह कह सकती हूं कि वह (प्रियंका गांधी) भी ‘इंडिया' गठबंधन की नेता हैं। नेता खुद गठबंधन की एक पार्टी के खिलाफ लड़ रही हैं।” केरल में एलडीएफ और कांग्रेस के नेतृत्व वाला संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा (यूडीएफ) एक दूसरे के प्रतिद्वंद्वी हैं। वहीं, कांग्रेस और वामपंथी दल विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया' का हिस्सा हैं।

एनी राजा ने कहा, “जहां तक ​​कांग्रेस पार्टी का सवाल है, कांग्रेस पार्टी की नेता प्रियंका का सवाल है, तो आप अपनी पार्टी और इस देश के लोगों के सबसे बड़े दुश्मन के रूप में किस ताकत को देखते हैं… क्या यह फासीवादी ताकतें हैं या वामपंथी पार्टियां हैं?” उन्होंने हालांकि कहा कि इस कदम से ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इंक्लूसिव अलायंस' (इंडिया) की एकता पर कोई असर नहीं पड़ेगा और भाकपा सांप्रदायिक ताकतों को हराने के लिए प्रतिबद्ध है।

Back to top button