मुख्यमंत्री के क्षेत्र में बलात्कार और नवजात का गर्भपात कराने का मामला गंभीर, दोषी चाचा-भतीजे पर हत्या का भी मामला दर्ज हो: अमित

अपराधियों को बचा रही है पुलिस, पीड़िता और परिवार को मामला वापस लेने दी जा रही है धमकी

अपराधियों से डर के मारे पीड़िता 26 दिन से घर से बाहर, पीड़िता को सुरक्षा देने की मांग

पीड़िता की ओर से उच्च न्यायालय में न्याय की गुहार, लगाएँगे हाईकोर्ट में याचिका

मुख्यमंत्री के नाक के नीचे आपराधिक वारदात

पीड़िता को एक माह का विधायक पेंशन देने की घोषणा

मर्रा नाबालिग बलात्कार कांड – आरोपी भी फरार

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने एक बार फिर खुरमुड़ा हत्याकांड के बाद मर्रा बलात्कार कांड पर सवाल खड़ा करते हुए तथा कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए कहा की मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र में उनके नाक के नीचे एक के बाद एक आपराधिक वारदात हो रही है पर मुख्यमंत्री जी इतने व्यस्त है कि अपने ही गांव, विधानसभा और क्षेत्र के बड़े होने के नाते पीड़िता और उसके परिजन से घटना की खबर लेने के लिए दो मिनट भी नहीं है जिससे अपराधियों को बल मिल रहा है।

जोगी निवास अनुग्रह में प्रेस वार्ता के दौरान अमित जोगी के साथ स्वम पीड़िता औऱ उसकी माता ने भाग लिया और अपनी आप बीती बताई पीड़िता ने मीडिया को बताया गांव के चाचा भतीजे ओमप्रकाश ठाकुर और सरपंच पालेश्वर ठाकुर ने मुझे डरा धमका कर कई बार बलात्कार किया और जब मैं गर्भवती हो गई तो जबर्दस्ती सवा छः महीने के बच्चे का गर्भपात किया गया। पीड़िता ने कहा पुलिस जानबूझकर अपराधियों को बचाने का काम कर रही है उन्हें गिरफतार नहीं कर रही है जबकि अपराधियों के द्वारा लगातार हमें केस वापस नहीं लेने पर जान से मारने की धमकी दी जा रहीं जिनके डर के मारे हमारा परिवार 26 दिनों से गाँव से बाहर छिपकर रह रहा है यदि हमें सुरक्षा नहीं दिया गया तो मेरी और मेरे परिजनों की जान को खतरा है।

अमित जोगी ने कहा पिछड़े समाज की एक नाबालिक बिटिया के साथ न सिर्फ अनेकों बार बलात्कार किया गया बल्कि उसके नवजात का गर्भपात करवा कर उसके जीवन को संकट में डालने का भी काम किया गया जो कि हत्या के अपराध की कोटि में आता है इसलिए अपराधी चाचा भतीजे के विरुद्ध हत्या का भी मामला दर्ज होना चाहिए।

अमित जोगी ने कहा खुरमुड़ा हत्याकांड और मर्रा बलात्कार कांड दोनों ही जघन्य अपराध मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र में घटित हुआ, मामला दर्ज हो चुका है जिसमें बलात्कार की घटना को अंजाम देने वाले का सीधा सम्बंध काँग्रेस से है फिर भी अपराधी पुलिस की गिरफ्त से बाहर जो सरकार की अकर्मण्यता को दर्शाता है।

अमित जोगी ने बलात्कारियों को राजनीतिक संरक्षण देने का भी आरोप लगाते हुए कहा पुलिस की कार्यप्रणाली से दर्शित होता है कि पुलिस को अपराध और अपराधियों की जानकारी होने के बाद उन्हें बचाने का नापाक काम कर रही है। प्रेसवार्ता के पश्चात अमित जोगी ने पीड़िता को अपनी ओर से एक माह का पेंशन राशि का चेक सहयोग के रूप में प्रदान किया।