छत्तीसगढ़

यूविन पोर्टल लांच होने के बाद छत्तीसगढ़ प्रदेश में पहली वैक्सीन लगेगी राजनांदगांव में, राजनांदगांव में चार जगह पर सॉफ्ट लॉन्चिंग …

रायपुर। कलेक्टर डोमन सिंह के निर्देशन एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एके बसोड के मार्गदर्शन में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दिल्ली से यूविन पोर्टल लांच किया गया। इसमें छत्तीसगढ़ से राजनांदगांव और महासमुंद भी शामिल है। यूविन ऐप के माध्यम से  टीकाकरण होने पर कोरोना टीकाकरण की तर्ज पर रूटीन टीकाकरण भी रियल टाइम मॉनिटरिंग संभव होगी।

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. तुलावी ने बताया कि राजनांदगांव की टीम को पहले ही ट्रेनिंग दी गई थी। कल राजनांदगांव में चार जगह पर सॉफ्ट लॉन्चिंग की जाएगी। इसके बाद पूरे जिले में इसे लांच किया जाएगा। इसे हेतु जिला कार्यक्रम प्रबंधक, जिला डाटा प्रबंधक, यूएनडीपी के विशेषज्ञ, वीसीसीएम के द्वारा आवश्यक तैयारियां एवं लॉन्चिंग की पूर्व संध्या पर आवश्यक तकनीकी तैयारियों के संबंध में समीक्षा की गई तथा महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को आवश्यक प्रशिक्षण दिया गया।

आने वाले दिनों में इसे संपूर्ण जिले में लागू किया जाएगा। समस्त महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता, पुरूष स्वास्थ्य कार्यकर्ता, सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी कनिष्ठ सचिवालय सहायक विकासखंड डाटा एवं कार्यक्रम प्रबंधक को आवश्यक प्रशिक्षण देने की रूपरेखा तथा कार्य योजना तैयार की गई है। उल्लेखनीय है कि युविन पोर्टल हेतु देश में केवल 65 जिलों को ही का चयन किया गया था।

जिसमें छत्तीसगढ़ के 2 जिले राजनांदगांव एवं महासमुंद का चयन किया गया था। इस हेतु तकनीकी सहयोगी संस्था यूएनडीपी के संभागीय मैनेजर डॉक्टर तनुप्रिया ने बताया कि आवश्यक तैयारियों हेतु सभी जिला स्तरीय अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर पायलट डिस्ट्रिक्ट में लॉन्चिंग हेतु आवश्यक तैयारियां पूर्ण कर ली गई है। यूविन पोर्टल लांच होने से नियमित टीकाकरण की सभी जानकारी ऑनलाइन रहेगी जिससे पेपर लेस कार्य होगा।

2023 को यूविन पोर्टल लांच किया जाएगा। इसके तहत प्रदेश भर में पहला टीका राजनांदगांव में लगाया जाएगा। देशभर में यूविन पोर्टल लांच किया जा रहा है। कोविन पोर्टल की तर्ज पर बनाए गए। इस यूविन पोर्टल के माध्यम से ना सिर्फ गर्भवती माताओं बल्कि बच्चों के टीकाकरण का भी पूरा रिकॉर्ड रखा जाएगा।

इसका फायदा यह होगा कि टीकाकरण का रिकॉर्ड मोबाइल में उपलब्ध रहेगा। लोग पिछले टीके की तारीख के अलावा टीके की अगली तारीख भी इसमें देख पाएंगे। बच्चों को 1 साल में लगने वाले सभी टीके लगने पर इसका सर्टिफिकेट भी मिलेगा। अभी तक कार्ड में तारीख दर्ज की जाती है। उस कार्ड को ही संभाल कर रखना होता है।

Related Articles

Back to top button