मध्य प्रदेश

प्रदेश में यूनानी चिकित्सा के विस्तार के लिये होंगे हरसंभव प्रयास

आयुष मंत्री यूनानी महाविद्यालय के रजत जयंती समारोह में हुए शामिल

भोपाल। आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रामकिशोर (नानो) कावरे ने कहा है कि प्रदेश में यूनानी चिकित्सा के विस्तार के लिये हरसंभव प्रयास किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि यूनानी चिकित्सा पद्धति करीब 2500 साल पुरानी है। प्रदेश में वर्तमान में 64 यूनानी चिकित्सालयों में जन-सामान्य को उपचार सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। राज्य मंत्री श्री कावरे सोमवार को भोपाल के पं. खुशीलाल वैद्य आयुर्वेद अस्पताल परिसर में स्थित शासकीय यूनानी महाविद्यालय के रजत जयंती समारोह को संबोधित कर रहे थे। राज्य मंत्री श्री कावरे ने इस मौके पर विभिन्न स्पर्धाओं में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले छात्रों को पुरस्कृत भी किया।
राज्य मंत्री श्री कावरे ने कहा कि भोपाल के हकीम सैय्यद ज़ियाउल हसन शासकीय यूनानी महाविद्यालय एवं चिकित्सालय ने श्रेष्ठ व्यवस्थाओं से प्रदेश में अपनी अलग पहचान बनाई है। उन्होंने यूनानी महाविद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों के लिये जल्द छात्रावास भवन बनाये जाने की भी बात कही। राज्य मंत्री ने कहा कि यूनानी चिकित्सा पद्धति में भी नये-नये शोध किये जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में यूनानी चिकित्सा पद्धति ने अपनी प्रभावी औषधियों की वजह से जन-सामान्य के बीच विश्वास को और मजबूत किया है।
महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. मेहमूदा बेगम ने बताया कि अब प्रदेश में यूनानी चिकित्सा पद्धति में भी पी.जी. कोर्स प्रारंभ हो गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में प्रायवेट सेक्टर में 3 यूनानी महाविद्यालय भी संचालित हो रहे हैं। रजत जयंती समारोह में छात्र-छात्राओं ने आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुतियाँ दी। कार्यक्रम का संचालन डॉ. एहसान अहमद ने किया और आभार डॉ. कहकशां जा़फरी ने व्यक्त किया।

Related Articles

Back to top button