Breaking News
.

बोली विकास मंच द्वारा लोकभाषा गौरव सम्मान से नवाजा गया योगेश कुमार ध्रुव भीम को ….

रायपुर। साहित्य संगम संस्थान दिल्ली बोली विकास मंच पर रीता कटक उड़ीसा क्षेत्रीय बोली मैथिली, वीणा वैष्णव राजसमंद राजस्थान क्षेत्रीय बोली राजस्थानी एवं योगेश कुमार ध्रुव भीम क्षेत्रीय बोली छत्तीसगढ़ी को 7 अगस्त 2021 को लोकभाषा गौरव सम्मान से सम्मानित किया गया है।

ज्ञातव्य है कि यह सम्मान कार्यक्रम अधीक्षक नवीन कुमार भट्ट नीर के करकमलों से नवाजा गया लोकभाषा गौरव सम्मान से सम्मानित करनें का सौभाग्य मुझे प्राप्त हुआ है। इसके लिए मंच आसीन उपस्थित सभी पदाधिकारियों एवं मनीषियों को साभार वंदन निश्चित तौर पर बोली विकास मंच पर क्षेत्रीय बोली विकसित सम्मान हेतु निमित्त तौर से चलाया जा रहा है। जिसमें देश के कोने-कोने से कवि गण अपनी स्थानीय बोलियों को लेकर अपनी उपस्थिति दर्ज करते हैं।

यह कार्यक्रम हर माह के प्रथम रविवार को आयोजित किया जाता है, पूर्व माह के अंतिम सप्ताह विज्ञप्ति जारी की जाती है जिसमें मौलिकता प्रमाणपत्र आदि भरकर जमा करवाया जाता है सम्मान प्राप्ति के उपरांत राजसमंद राजस्थान की कवित्री वीणा वैष्णव संस्थान को संबोधित करते हुए कहा कि साहित्य संगम संस्थान बोली विकास मंच के सभी पदाधिकारियों को हार्दिक नमन बोली विकास मंच पर आयोजित बोली संवर्धन ऑनलाइन वीडियो कवि सम्मेलन में भाग लेकर मुझे अत्यंत प्रसन्नता का अनुभव कर रही हूं। मुझे भी अपनी क्षेत्रीय बोली राजस्थानी लोक भाषा में काव्य पाठ करने का गौरव प्राप्त हुआ और साथ ही साहित्य संगम संस्थान द्वारा लोक भाषा गौरव सम्मान से सम्मानित होने पर हर्ष की अनुभूति कर रही हूं।

धमतरी छत्तीसगढ़ के कवि  योगेश कुमार ध्रुव भीम ने कहा कि बोली विकास मंच साहित्य संगम संस्थान नई दिल्ली को मेरा सादर “जय जोहर” बोली विकास मंच के द्वारा विभिन्न प्रान्तों के रचनाकार कवियों को प्रोत्साहित करने हेतु उनके स्थानीय भाषा पर वीडियो आधरित कविता को समम्मिलित कर बोलने सुनने का जो अवसर मंच प्रदान करता है वह हम सबको आगे बढ़ने हेतु प्रेरित करता है। जिसमें मेरा छत्तीसगढ़ी भाषा को भी मुझे आगे बढाने का एक अच्छा मंच मिला है। कटक उड़ीसा की कवित्री रीता झा ने कहा कि बोली को बढ़ावा देना बहुत आवश्यक है, यह हमारी बोली ही है जिसके कारण हम विदेशों में भी अपनों को ढूंढ लेते हैं तथा वहां भी हमारी मदद करती है। अपनी बोली इन्हीं शब्दों के साथ आज के सम्मानित मनीषियों को बधाई व लोकभाषा गौरव सम्मान से सम्मानित करने हेतु संस्थान के पदाधिकारियों को धन्यवाद ज्ञापित करती हूं। ऐसे ही कार्यक्रम करते रहें ताकि क्षेत्रीय बोली की स्मृतियां विद्यमान रहे।

कार्यक्रम में राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी राजेश कुमार शर्मा पुरोहित, सुषमा खरे, रामबाबू प्रसाद, राजवीर सिंह मंत्र राष्ट्रीय अध्यक्ष के अलावा संस्थान के अन्य पदाधिकारियों व सदस्यों की उपस्थिति रही।

error: Content is protected !!