Breaking News
.

किसान आंदोलन अब पकड़ेगा और भी रफ्तार? मुज्जफरनगर में 5 सितंबर को होगी महापंचायत, तैयारी शुरू …

पलवल । नरेंद्र मोदी सरकार के तीनों नए किसान विरोधी कानूनों को रद्द करने और विवादित एमएसपी गारंटी बिल पास करवाने की मांग को लेकर पिछले 8 माह से चल रहे किसान आंदोलन को रफ्तार देने के लिए किसान आगामी 5 सितंबर 2021 को यूपी के मुज्जफरनगर में एक महापंचायत करेंगे।

इसके लिए आंदोलनकारी किसानों ने गांवों में जनसंपर्क अभियान तेज कर दिया है। किसान आंदोलन चलते-चलते 8 माह से ज्यादा हो चुके हैं, लेकिन सरकार किसानों की बात सुनने को तैयार नहीं है। किसान अलग-अलग तरीकों से सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं और अपनी बात रख रहें हैं। सरकार द्वारा किसानों की बातें नहीं मानने के कारण देश के किसानों में सरकार के खिलाफ काफी रोष है। आंदोलन को और तेज करने के लिए किसान अलग-अलग रणनीति बनाने में जुटे रहते हैं।

किसान नेता महेंद्र सिंह का कहना है कि आंदोलन को और गति देने के लिए किसान भरसक प्रयास कर रहे हैं। गांवों में जाकर आंदोलन का प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। आगामी 5 सितंबर को यूपी मुज्जफरनगर में एक राष्ट्रीय किसान महापंचायत का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए आंदोलनकारी किसानों ने गांवों में जनसंपर्क अभियान तेज कर दिया है।

इस पंचायत में पांच लाख किसान हिस्सा लेंगे और सरकार पर कृषि कानूनों को रद्द करवाने का दबाव बनाया जाएगा और आंदोलन को और तेज गति देने के लिए रणनीति बनाई जाएगी। महिलाओं ने भी कहा कि लगातार किसानों के आंदोलन में उनका सहयोग करेंगी।

error: Content is protected !!