नई दिल्ली

किसकी है संदिग्ध नाव, कैसे किनारे पर आ लगी; डिटेल में यहां जानें सब कुछ, पढ़ें ….

नई दिल्ली। मुंबई के निकट रायगढ़ में समुद्र तट पर मिली हथियारों से लदी संदिग्ध नाव को लेकर महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम ने चिंताएं दूर करने वाली बात कही है। उन्होंने कहा कि अब तक हुई जांच में इस नाव का कोई टेरर ऐंगल सामने नहीं आया है। उन्होंने कहा कि इस बोट का नाम लेडी हान है और इसकी मालकिन ऑस्ट्रेलिया की एक महिला है। ने बताया कि इस बोट के कप्तान महिला के पति हैं। यह नाव मस्कट से यूरोप जा रही थी और इसी दौरान इसका इंजन खराब हो गया था। इस स्थिति में बोट में सवार लोगों ने डिस्ट्रेस कॉल किया था और कोरियाई जहाज ने इन लोगों को रेस्क्यू किया था।

इसके बाद यह बोट धीरे-धीरे आकर किनारे लग गई। हाई टाइड की वजह से उस दौरान इस बोट को निकाला नहीं जा सका। उन्होंने कहा कि फिलहाल कोई टेरर ऐंगल नहीं मिला है, लेकिन त्योहारी सीजन चल रहा है और हमने सबको अलर्ट पर रखा है।  बोट के बारे में पुख्ता जानकारी हमारे सामने आ गई है। हाई टाइड के चलते ओमान से बहकर बोट यहां आ पहुंची। महाराष्ट्र के गृह मंत्री ने कहा कि यह बोट मस्कट से यूरोप जा रही थी। उन्होंने कहा कि अभी तक इसमें कोई टेरर ऐंगल सामने नहीं आया है, लेकिन हम हर तरह से जांच कर रहे हैं। किसी भी बात को एक सिरे से खारिज नहीं किया जा सकता।

फडणवीस से पहले रायगढ़ के एसपी अशोक ने जानकारी दी थी कि हरिहरेश्वर समुद्री तट से पुलिस को संदिग्ध नाव मिली है। नाव की जब तलाशी ली गई तो उसमें से राइफल, जिंदा कारतूस और गोला-बारूद बरामद हुआ है। मुंबई पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। उधर, पुलिस सूत्रों का मानना है कि आगामी 31 अगस्त को गणेश चतुर्थी है और रायगढ़ के इस इलाके में गणेश विसर्जन के लिए लाखों की संख्या में लोग पहुंचते हैं।

ऐसे में तमाम पहलुओं के मद्देनजर पुलिस ने रायगढ़ इलाके में हाई अलर्ट जारी किया है। मीडिया रिपोर्ट्स हैं कि मामले में एटीएस चीफ विनीत अग्रवाल ने कहा कि रायगढ़ में संदिग्ध नाव का मिलना आतंकी साजिश का हिस्सा हो सकता है। उन्होंने कहा कि नाव किसी दूसरे देश से भी आ सकती है। फिलहाल एनआईए के भी तीन सदस्यों की टीम को रायगढ़ के लिए भेजा गया है।

Related Articles

Back to top button