Breaking News
.

कौन होगा रिसाली व भिलाई निगम का नया महापौर, अब भी रहस्य बरकरार, बीरगांव को आज मिलेगा नया मेयर ….

रायपुर। राजधानी रायपुर के बीरगांव नगर निगम में जोड़-तोड़ की कवायद तेज हो गई है। यहां कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी है, लेकिन बहुमत उसके पास नहीं है। ऐसे में निर्दलीय चुनाव जीतने वालों को कांग्रेस ने साधा है। चुनाव जीतने के बाद कुछ निर्दलीयों ने कांग्रेस प्रवेश भी किया है। यहां कांग्रेस का रास्ता लगभग साफ है। वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा की पसंद का यहां ख्याल रखा जाएगा। यहां कुछ घंटों बाद महापौर व सभापति का चुनाव होना है। महापौर व सभापति कौन होगा इसे लेकर सबकी निगाहें टिकी हुई है।

भिलाई-चरोदा नगर निगम के बाद अब दुर्ग जिले के भिलाई और रिसाली नगर निगम में महापौर व सभापति का चुनाव होना है। शहर सरकार का नया मुखिया कौन होगा, इसे लेकर अभी भी सस्पेंस बरकार है। रिसाली व भिलाई निगम में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत है, लेकिन बीरगांव में दो सीट कम है। हालांकि तीनों जगहों पर कांग्रेस के महापौर बनेंगे यह तय है, लेकिन मेयर कौन होगा यह तय नहीं हो पाया है। दावेदार ज्यादा होने से संगठन भी चिंतित है। दुर्ग मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू का गृह जिला है, लिहाजा सीएम का निर्णय ही अंतिम होगा। वहीं बीरगांव निगम को आज नया महापौर मिल जाएगा।

भिलाई नगर निगम में कांग्रेस के निर्वाचित 37 पार्षदों सहित पार्टी में शामिल हुए चार निर्दलीय पार्षद सीएम से रायपुर में मुलाकात कर जगन्नाथ पुरी गए हैं। कांग्रेस के सभी पार्षद इस समय वहां पर सैर सपाटा कर रहे हैं। 70 वार्ड वाले भिलाई नगर निगम में कांग्रेस बहुमत में है। इन पार्षदों में से ही महापौर का चुनाव किया जाना है। इस बार निगम महापौर का पद अनारक्षित है, यानी सामान्य वर्ग से ही किसी का नाम तय होगा। कांग्रेस पार्टी से उसी पार्षद को महापौर बनाया जाएगा, जिस नाम पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपनी सहमति देंगे। वहीं भाजपा भी बैकुंठपुर नगर पालिका की तरह किसी चमत्कार की उम्मीद में है। कांग्रेस पार्टी को यह डर सता रहा है कि कोई पार्षद इधर उधर ना हो जाए। वहीं जामुल नगर पालिका में भाजपा का अध्यक्ष बनना भी लगभग तय है।

नवगठित रिसाली नगर निगम में भी ऊहापोह की स्थिति है। भिलाई से अलग होकर बने 40 वार्डों वाले रिसाली नगर निगम में कांग्रेस को बहुमत है। पिछड़ा वर्ग महिला के लिए आरक्षित रिसाली निगम में पांच महिलाओं के बीच फैसला होना है। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू की पसंद के पार्षद को महापौर की जिम्मेदारी मिल सकती है। चुनाव जीते पार्षदों ने हाल ही में एचएम के साथ सीएम से मुलाकात की थी। मेयर और सभापति को लेकर सभी महिला पार्षद दावेदारी ठोक रहीं है। रिसाली में कांग्रेस के 21 पार्षद चुनाव जीते हैं। इधर जिला प्रशासन शपथ ग्रहण की तैयारियों में जुट गई है।

error: Content is protected !!