Breaking News
.

कोरोना वैक्सीन की दूसरी और बूस्टर खुराक में रहेगा कितना अंतर? यह है भारत सरकार का प्लान ….

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री ने शनिवार देर रात ऐलान किया था कि देश में 15 से 18 साल के बच्चों को 3 जनवरी से कोरोना टीका दिया जाएगा। वहीं, हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्करों को 10 जनवरी से प्रिकॉशन डोज दी जाएगी। पीएम मोदी ने यह ऐलान ऐसे समय में किया है जब देश में ओमिक्रॉन के वैरिएंट के मामले बढ़ते जा रहे हैं।

भारत में कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज और बूस्टर यानी प्रिकॉशन डोज में 9 से 12 महीने का अंतराल हो सकता है। सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी दी। सूत्रों के मुताबिक, कोविशील्ड और कोवैक्सीन टीके की तीसरी खुराक और बूस्टर डोज के बीच समय के अंतराल तय करने पर अभी विचार-विमर्श जारी है और जल्द ही इसपर आखिरी फैसला लिया जाएगा।

पीएम मोदी ने यह भी कहा कि 60 साल से ज्यादा उम्र वाले उन बुजुर्गों को भी डॉक्टर की सलाह पर प्रिकॉशन डोज दी जाएगी, जो गंभीर बीमारियों से ग्रसित हैं। इनके लिए भी बूस्टर डोज की शुरुआत 10 जनवरी से ही होगी। प्रिकॉशनरी डोज का अर्थ है टीके की तीसरी खुराक।

सूत्रों के मुताबिक, नैशनल टेक्निकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्यूनाइजेशन (NTAGI) फिलहाल इसपर विचार-विमर्श कर रहा है कि टीके की दूसरी डोज और प्रिकॉशनरी खुराक के बीच समय का अंतराल 9 से 12 महीने के बीच हो। बता दें कि भारत में 61 फीसदी व्यस्का आबादी का कोरोना टीकाकरण पूरा हो चुका है। वहीं, 90 फीसदी व्यस्क आबादी ने टीके की कम-से-कम एक खुराक ले ली है।

रविवार सुबह 7 बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक, देश में शनिवार को वैक्सीन की कुल 32 लाख 90 हजार 766 डोज लगी, जिसके बाद देश में कुल टीकाकरण का आंकड़ा 141.37 करोड़ हो गया है।

error: Content is protected !!