Breaking News
.

जल सैलाव: कूनो, क्वारीं, पार्वती, महुअर और सांक नदी उफान पर , श्योपुर-शिवपुरी में एनडीआरएफ ने संभाला मोर्चा…

भोपाल। मध्यप्रदेश के ग्वालियर-चंबल संभाग में सोमवार को हुई तेज बारिश के कारण कूनो, क्वारीं, पार्वती, महुअर और सांक नदी उफान पर हैं। चंबल नदी का जलस्तर भी तेजी से बढ़ रहा है। कोटा बैराज से 5 हजार क्यूसेक पानी चंबल में छोड़ा गया है। इस कारण आसपास के गांवों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। नदियों के साथ ही अधिकतर बांध लबालब हो गए हैं। शिवपुरी और श्योपुर जिले के हालात ज्यादा खराब हैं। श्योपुर में जहां दो स्थानों पर पानी में फंसे 100 लोगों को राहत और बचाव दल ने सकुशल बाहर निकाला, वहीं शिवपुरी के कोलारस में बाढ़ में फंसे करीब एक हजार लोगों को बचाने के लिए एनडीआरएफ के साथ तीन हेलिकॉप्टरों को लगाया गया है। यहां दो गांवों के हालात ज्यादा खराब हैं। भिंड, मुरैना और शिवपुरी में मकान गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई, वहीं 6 लोग घायल हो गए।

शिवपुरी में अत्यधिक बारिश से बिगड़े हालातों की सूचना मिलने के साथ ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, खेल मंत्री यशोधरा राजे, सांसद विवेक शेजवलकर ने अधिकारियों से बात कर आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री के साथ सिंधिया भी रेस्क्यू ऑपरेशन की मॉनिटरिंग करते रहे। क्षेत्र की चिंताजनक स्थिति को देखते हुए केंद्रीय मंत्री सिंधिया लगातार जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों से संपर्क बनाए हुए हैं।

शिवपुरी जिले में 24 घंटे के दौरान 250 मिमी बारिश हुई है। सिलपरी और बरखेडी गांवों में करीब 1000 लोग बाढ़ से घिर गए हैं। इन्हें बचाने के लिए हेलिकॉप्टर जुटे हुए हैं। सिलपरी में 10 लोगों को एयरलिफ्ट किया गया है। बदरवास तहसील के बिजरौनी गांव में दीवार ढहने से एक 13 वर्षीय किशोरी रक्षा जाटव की मौत हो गई। वहीं, मुरैना जिले में 24 गंटे में 74.4 मिमी बारिश हुई। नैपरी पर क्वारी नदी में उफान के चलते पुल में दरार आ गई है। यातायात रोक दिया है। सबलगढ़ के बत्तोखर में मकान ढहने से वीरबल रावत (60) की मौत हो गई, जबकि पत्नी रामरती घायल है। पहाड़गढ़ में सोननदी में आए उफान के चलते 6 गांवों का कैलारस से संपर्क टूट गया।

श्योपुर जिले में 24 घंटे में 121 मिमी बारिश होने से कई गांवों में बाढ़ के हालात हैं। जिले का राजस्थान के साथ ही पूरे मप्र से संपर्क कट गया है। विजयपुर में 21 साल बाद क्वारी नदी बड़े पुल के ऊपर से बह रही है। मानपुर में अस्पताल में फंसे 23 लोगों का रेस्क्यू किया गया। कूनो नदी का पुल 15 फीट तक डूब गया है। यहां सोमवार आधी रात को 40 परिवारों को बाहर निकाला गया। भिंड जिले में चंबल उफान पर है। उदी घाट पर जल स्तर 116.5 फीट हो गया है। अटेर में नदी किनारे बसे 14 गांवों को अलर्ट किया गया है। दबोह में मकान गिरने से 16 वर्षीय प्रगति नायक पुत्री संतोष नायक की मौत हा गई जबकि परिवार के 5 लोग घायल हैं। आलमपुर-गोहद में भी मकान धराशायी हुआ है। यहां जनहानि नहीं हुई है।

error: Content is protected !!