Breaking News
.

मस्जिद को लेकर महाराष्ट्र में भड़की हिंसा, अमरावती में धारा 144 लागू, घटना में 18 पुलिसकर्मी हुए घायल…

त्रिपुरा। त्रिपुरा स्थित एक मस्जिद को लेकर महाराष्ट्र में हिंसा भड़क गई। इस हिंसा में तीन अधिकारियों समेत 18 पुलिस कर्मी घायल हुए है। विरोध प्रदर्शन कर दुकानें जलाई गई। घटना को देखते हुए अमरावती में धारा 144 लागू किया गया है।

पथराव की घटनाएं मुख्य रूप से महाराष्ट्र के अमरावती, मालेगांव और नांदेड़ शहर में शुक्रवार को कुछ मुस्लिम संगठनों द्वारा निकाली गई रैलियों के दौरान हुईं। मालेगांव में तीन अधिकारियों सहित कम से कम दस पुलिसकर्मी घायल हो गए। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि नांदेड़ शहर में आठ पुलिसकर्मी घायल हुए हैं और भीड़ ने पुलिस के चार वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। अमरावती में धारा 144 लागू कर दी गई है।

महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल ने कहा- “त्रिपुरा में हुई हिंसा के खिलाफ राज्य भर के मुसलमानों ने विरोध मार्च निकाला था। इस दौरान नांदेड़, मालेगांव, अमरावती और कुछ अन्य जगहों पर पथराव किया गया। मैं सभी से शांति बनाए रखने के लिए अपील करता हूं।”

उन्होंने कहा कि किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए राज्य रिजर्व पुलिस बल (एसआरपीएफ) की दो कंपनियों सहित अतिरिक्त पुलिस बल को अमरावती में तैनात किया गया है, अब स्थिति शांतिपूर्ण है। पाटिल ने कहा कि सीसीटीवी और अन्य स्रोतों से आरोपियों की पहचान की जा रही है।

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने इस घटना के लिए सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा- “त्रिपुरा में जो घटना घटी ही नहीं, उसे लेकर महाराष्ट्र में हो रहे दंगे बिल्कुल गलत हैं। त्रिपुरा में मस्जिद को जलाया गया इसकी अफवाह फैलाई गई। वहां की पुलिस ने उस मस्जिद की फोटो भी जारी की है। बावजूद इसके महाराष्ट्र में मोर्चे निकाले गए और हिंसा की गई, हिंदू समाज के लोगों की दुकानें जलाई गईं, मैं इसकी निंदा करता हूं।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि मराठवाड़ा क्षेत्र के नांदेड़ शहर में पथराव में आठ पुलिसकर्मी घायल हो गए। भीड़ ने पुलिस के चार वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। उन्होंने कहा कि अब तक अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ तीन प्राथमिकी दर्ज की गई हैं और चार लोगों को हिरासत में लिया गया है।

error: Content is protected !!