Breaking News
.

विनोद तिवारी ने कहा- छत्तीसगढ़ को मुफ्त वैक्सीन दिलाने के लिए प्रधानमंत्री से क्यों नहीं बात करते भाजपा के सांसद और यहां के नेता …

रायपुर। निशुल्क टीके देंने के बजाए मोदी सरकार क्यों ले रही है टैक्स, छतीसगढिया के हित में पीएम से सवाल करने, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व केंद्रीय राज्य मंत्री के अलावा 8 लोकसभा 2 राज्यसभा सांसदों के नाम विनोद तिवारी ने भेजा पत्र । संसाधनों से सम्पन्न मोदी सरकार 18+ युवाओं को मुफ्त टीका लगवाने के बजाए, राज्य सरकार के ख़रीदी पर टैक्स वसूल रही है।मोदी सरकार से यह सवाल करने विनोद तिवारी ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय, प्रदेश में मौजूद भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रमन सिंह केंद्रीय राज्य मंत्री श्रीमती रेणुका सिंह समेत 8 भाजपा सांसदों 2 राज्यसभा सांसद  सरोज पांडेय एवं रामविचार नेताम को पत्र भेजा है।साथ ही टीकाकरण पर मुख्यमंत्री जी से चर्चा करने वाले प्रतिनिधि मंडल के सदस्य नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक विधायक ब्रजमोहन अग्रवाल अजय चंद्राकर को भी पत्र भेजा है

दो पन्नो के इस पत्र में विनोद तिवारी ने केंद्रीय  वित्त मंत्री निर्मला सीता रमण के उस घोषणा को याद दिलाया है जिसमे उन्होंने कहा था कि वेक्सिनेशन के लिए 35 हजार करोड़ का प्रावधान का घोषणा  कर वाहवाही लूटी गई,परन्तु जरूरत के समय सीरम इस्ट्यूट एव भारत बायोटेक कम्पनी को केवल 4700 करोड थमा कर वेक्सिन उत्पादन की पहली कड़ी में ही कमजोर साबित हो गई।

आगे कहा कि तीसरी लहर की भयावहता की चेतावनी दी जा रही है,इस समय वेक्सीन ही एक मात्र विकल्प है,समय पर पर्याप्त संख्या में वैक्सिन् की जरूरत है।ऐसे में क्या प्रदेश के भाजपा नेताओं की नैतिक जिम्मेदारी नही बनती की वे पीएम मोदी से इस विषय मे बात कर पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन मांगा जाना चाहिए।निशुल्क नही,रियायत दर पर भी नही मांग सकते तो,वेक्सीन पर लगाये जा रहे जीएसटी में छूट तो दिला सकते है।तिवारी ने कहा कि 15 साल सरकार चलाने वाली भाजपा छतीसगढ़ में मौजूद संसाधनों से वाकिफ हैं।

इन हालातों में छतीसगढ़ की जनता के हित मे पीएम मोदी से चर्चा करने की नसीहत दिया है।नसीहत के 4 बिन्दुओ में तिवारी ने पत्र में लिखा है कि कोरोना नियंत्रण के लिए जल्द व पर्याप्त वैक्सीन उपलब्ध कराई जाए। वेक्सिन,ऑक्सीजन उपकरण एव कोरोना के कारगर दवाओं को जीएसटी मुक्त कराई जाए।राज्य सरकार को निशुल्क वेक्सिन उपलब्ध कराने की मांग रखी जाए। कोरोना के लड़ाई के महत्वपूर्ण बिन्दुओ को पीएम मोदी से भेंट कर ही मांग रखने की नसीहत भी तिवारी ने दिया है।

प्रदेश में चर्चा की नॉटंकी के बजाय केंद्र से है बात करने की जरूरत- विनोद तिवारी ने कहा कि प्रदेश के मुखिया जैसे सभी बैठक को सम्बोधित करते है,वैसे ही वर्चुव्ल बैठक के लिए भाजपा प्रतिनिधि मण्डल को समय दिया था। पर वर्चुव्ल बैठक के लिए राजी न होकर उन्होंने साबित कर दिया कि भाजपा आपदा पर केवल राजनीति कर रही है।भाजपाइयों के इस हरकत को तिवारी ने नोटंकी करार दिया है। जिसे बात करना है वो प्रत्यक्ष हो या विडियो के माध्यम से हो फ़र्क़ नही पड़ता और जिसे नौटंकी करनी हो वो ही ऐसी बात करता है। विनोद तिवारी ने बताया की उपरोक्त सभी भाजपा नेताओ को आज मेल के माध्यम से पत्र भेज दिया है एवं वेबसाइड में उपलब्ध उनके पते पर भी स्पीड पोस्ट के माध्यम से पत्र प्रेषित कर दिया जावेगा।

error: Content is protected !!