Breaking News
.

चाचा और भाई ही घर में अकेला पाकर करते थे छेड़छाड़ व अश्लील हरकतें, तंग आकर पुलिस के पास पहुंची लड़की, दोनों गिरफ्तार …

बिलासपुर। नाबालिग बेटी के साथ दो बच्चों को जिन रिश्तेदारों के भरोसे घर पर अकेला छोड़कर बाहर कमाने-खाने गए थे वे ही रिश्तेदार लड़की की अस्मत के दुश्मन बन गए। रिश्ते में चाचा और भाई ने नबालिग को घर में अकेला पाकर छेड़छाड़ कर दी। जिस पर नाबालिग के मना करने के बाद भी वे दोनों रोज घर आ जाता है नबालिक का छेड़छाड़ करते। चाचा ने तो मौका देखकर नाबालिग के सामने अपने प्रेम का इजहार तक कर दिया। तंग आकर नाबालिग तोरवा थाने पहुंची और मदद मांगी। पुलिस ने मामले में तुरंत अपराध दर्ज कर नाबालिग भाई समते चाचा को गिरफ्तार कर लिया है।

टीआई सुखनंदन पटेल ने बताया कि 17 वर्षीय किशोरी बारहवीं कक्षा तक पढ़ने के बाद पढ़ाई छोड़ दी है। उसके माता-पिता कमाने खाने के लिए बाहर गए हैं। घर में वह अपने दो छोटे भाई-बहन के साथ रहती है। उसे अकेला पाकर पड़ोस के ही चाचा संजीत गेयल (21) और उसके पड़ोस में गी रहने वाला 17 वर्षीय नाबालिग भाई मिलकर उसे परेशान करने लगे थे। जब भी वह घर में अकेली रहती, तब दोनों घर पहुंच जाते।

चाचा संजीत उससे प्यार करने की बात कहता था। लेकिन, किशोरी उनकी हरकतों को नजरअंदाज करती रही। धीरे-धीरे कर दोनों की नीयत बिगड़ने लगी। कुछ दिन पहले दोनों ने मिलकर उससे छेड़खानी भी की थी। तब किशोरी ने उन्हें मना किया था। साथ ही उन्हें घर नहीं आने की चेतावनी दी थी। इसके बाद भी दोनों युवक उसके घर पहुंच जाते। आए दिन की उनकी हरकतों से परेशान होकर किशोरी सोमवार की शाम शिकायत लेकर तोरवा थाने पहुंच गई। पुलिस ने उनके खिलाफ घर घुसकर छेड़खानी करने का मामला दर्ज कर लिया है।

इस घटना की शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने सक्रियता दिखाई। दोनों युवकों के खिलाफ अपराध दर्ज करने के साथ ही पुलिस ने उनके घर में दबिश दी और उन्हें पकड़ लिया। पुलिस उन्हें हिरासत में थाने लाकर पूछताछ कर रही है। पुलिस ने संजीत के साथ ही नाबालिग को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने पूछताछ कर जानकारी जुटाई, तब पता चला कि किशोरी के घर की आर्थिक स्थिति कमजोर है। यही वजह है कि उनके माता-पिता कमाने के लिए बाहर गए हैं। उन्होंने अपने बच्चों की देखभाल करने के लिए पड़ोसी रिश्तेदारों को जिम्मेदारी दी थी। लेकिन, मौका पाकर पड़ोसी रिश्तेदार ही बुरी नीयत रखने लगे थे।

error: Content is protected !!