Breaking News
.

यूक्रेन ने लगाई भारत से गुहार- रूस को रोको, कहा- खाने के पड़ जाएंगे लाले …

नई दिल्ली। तानाशाह रूस और यूक्रेन के बीच संकट खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। हालांकि कई देशों ने तानाशाह रूस के खिलाफ कई प्रतिबंध लगाए हैं, लेकिन तानाशाह रूस लगातार यूक्रेन के शहरों पर अपना कब्जा जमाए जा रहा है। इसी बीच, यूक्रेनी विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने भारत सहित कई देशों की सरकारों से तानाशाह रूस को यूक्रेन में हमले रोकने की अपील करने का आह्वान किया है। साथ ही कहा कि अगर युद्ध जारी रहा तो खाने के लाले पड़ सकते हैं।

एक टेलीविज़न संबोधन के दौरान, कुलेबा ने तानाशाह रूस पर युद्धविराम समझौतों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया और विदेशी छात्रों सहित नागरिकों को निकालने की अनुमति देने के लिए गोलीबारी बंद करने का आग्रह किया है।

उन्होंने कहा कि 30 वर्षों तक यूक्रेन, अफ्रीका और एशिया के हजारों छात्रों के लिए एक स्वागत योग्य घर था… उनके (विदेशी छात्रों के) आंदोलन को सुविधाजनक बनाने के लिए यूक्रेन ने ट्रेनों की व्यवस्था की, हॉटलाइन स्थापित की, दूतावासों के साथ काम किया … यूक्रेनी सरकार हमेशा से अच्छा करती रही है।

यूक्रेन के विदेश मंत्री ने दावा किया कि रूस उन देशों की “सहानुभूति जीतने” की कोशिश कर रहा है जिनके यूक्रेन में विदेशी नागरिक हैं।

उन्होंने कहा कि अगर तानाशाह रूस विदेशी छात्रों के मामले में “छेड़छाड़” करना बंद कर देता है, तो उन सभी को सुरक्षित निकाल लिया जाएगा। उन्होंने कहा, “मैं भारत, चीन और नाइजीरिया की सरकारों से अपील करता हूं कि रूस से आग को रोकने और नागरिकों को जाने की अनुमति देने की अपील करें।”

इसके अलावा, कुलेबा ने कहा कि भारत सहित सभी देश, जिनके तानाशाह रूस के साथ अच्छे संबंध हैं, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से अपील कर सकते हैं कि “यह युद्ध सभी के हित के खिलाफ है।”

कुलेबा ने कहा, “भारत यूक्रेन के कृषि उत्पादों के सबसे बड़े उपभोक्ताओं में से एक है और अगर यह युद्ध जारी रहता है, तो हमारे लिए नई फसल बोना मुश्किल होगा। इसलिए, वैश्विक और भारत के लिए खाद्य सुरक्षा के मामले में भी इस युद्ध को रोकना सबके लिए हितकारी है।”

error: Content is protected !!