Breaking News
.

कुख्यात बिल्लू दुजाना समेत दो बदमाश पुलिस मुठभेड़ में ढेर …

नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर में आतंक का पर्याय बने कुख्यात बिल्लू दुजाना और उसके साथी राकेश दुजाना को गाजियाबाद पुलिस ने शुक्रवार देर रात मुठभेड़ में मार गिराया। दोनों बदमाश कविनगर क्षेत्र के वेव सिटी में 20 अप्रैल को ग्रेटर नोएडा के दो लोगों की हत्या के मामले में फरार चल रहे थे।

जानकारी के अनुसार, इंदिरापुरम पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में एक लाख रुपये का इनामी बिल्लू दुजाना मारा गया, जबकि मधुबन बापूधाम पुलिस के साथ हुई भिड़ंत में 50 हजार का इनामी राकेश ढेर हो गया। 20 अप्रैल की रात को वेव सिटी में दो युवकों की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। मृतकों की पहचान थाना बादलपुर, गौतमबुद्धनगर के डेयरी मच्छा निवासी जितेंद्र तथा गिरधरपुर निवासी हरेंद्र के रूप में हुई थी। जितेंद्र की पत्नी प्रीति ने गौतमबुद्धनगर के गांव दुजाना निवासी कुख्यात बिल्लू नागर तथा उसके चचेरे भाइयों अनिल व विनोद नागर के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कराया था।

8 मई को कविनगर पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान बिल्लू दुजाना के चचेरे भाई अनिल नागर को गिरफ्तार किया था। फरार होने के चलते बिल्लू दुजाना पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था। विवेचना के दौरान हत्याकांड में दुजाना निवासी राकेश का नाम भी सामने आया था। उस पर भी पुलिस ने 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। शनिवार तड़के इंदिरापुरम पुलिस और स्वाट टीम के साथ हुई भिड़ंत में बिल्लू दुजाना मारा गया। वहीं, मधुबन बापूधाम पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में राकेश दुजाना भी ढेर हो गया।

मधुबन बापूधाम थानाक्षेत्र में हुई मुठभेड़ के दौरान एसपी सिटी प्रथम निपुण अग्रवाल और सीओ प्रथम स्वतंत्र कुमार सिंह की बुलेट प्रूफ जैकेट में भी गोली लगी हैं, जबकि एक सिपाही गोली लगने से घायल हो गया। वहीं, इंदिरापुरम में हुई मुठभेड़ में एसपी क्राइम डॉ. दीक्षा शर्मा, सीओ इंदिरापुरम अभय कुमार मिश्र, एसएचओ इंदिरापुरम मनीष बिष्ट की बुलेट प्रूफ जैकेट में गोली लगी। स्वाट टीम प्रभारी अब्दुर रहमान सिद्दीकी और एक सिपाही गोली लगने से घायल हो गए।

error: Content is protected !!