Breaking News
.

दो दिन पहले SP ने किया लाइन अटैच, होटल में फंदे पर लटकी मिली ASI की लाश, पुलिस कर रही जांच …

रायपुर। छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में ASI ने शनिवार को भिलाई के एक होटल के कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। दुर्ग निवासी एएसआई फारुख शेख (50 वर्ष) को दो दिन पहले ही छावनी थाने से दुर्ग एसपी ने लाइन अटैच किया था। डिप्रेशन की वजह से आत्महत्या करने की बातें कही जा रही है। छावनी थाना की पुलिस ने शव को फंदे से उतारकर मरच्युरी भिजवा दिया है। फिलहाल पुलिस इस मामले में जांच के बाद ही कुछ कहने की बात कह रही है।  

मिली जानकारी के मुताबिक छावनी थाना इलाके में न्यू वसंत टाकीज के पास स्थित सुविधा लॉज में एएसआई फारुख शेख ने खुदकुशी की है। बीती रात वह लॉज में ठहरने आए थे। शनिवार दोपहर तक जब वह कमरे से बाहर नहीं निकले तो लॉज के स्टाफ ने किसी अनहोनी की आशंका जताते हुए पुलिस को सूचना दी। सीएसपी कौशलेंद्र पटेल और टीआई विशाल सोन के साथ मौके पर पहुंची पुलिस ने पहले आवाज लगाई। अंदर कमरे से कोई प्रतिक्रिया नहीं आने पर दरवाजा थोड़ा तब एएसआई फारुख शेख फंदे पर लटका मिला।

फारूख शेख भिलाई के छावनी थाना में ASI के पद पर पदस्थ था। शिकायतें मिलने के बाद दुर्ग एसपी अभिषेक पल्लव ने ASI को लाइन अटैच कर दिया था। खबर है कि लाइन अटैच होने के बाद से एएसआई डिप्रेशन में था। पुलिस इस मामले में जांच के बाद ही कुछ कहने की बात कह रही है। फिलहाल होटल में पुलिस की टीम जांच कर रही है। एएसआई ने आत्महत्या क्यों की है, इसका सही कारण पता नहीं चल पाया है। एएसआई सालभर से छावनी थाने में पदस्थ था। पुलिस ने उनके परिजनों को सूचना भेज दी है।

बताया जाता है कि 8 मई को न्यू पुलिस लाइन दुर्ग में एक तेज रफ्तार कार ने 2 बाइक में सवार 4 युवकों को अपनी चपेट में ले लिया था। इस हादसे में उत्कल नगर निवासी आकाश तांडी (24 वर्ष) की मौत हो गई। वह अपनी मां के लिए मदर्स-डे पर केक लेकर दोस्तों के साथ घर लौट रहा था। इस हादसे में आकाश के बबलू नाग, दिनेश महानंद और रमेश लोहा बुरी तरह घायल हो गए।

घायलों के बयान पर पाया गया कि जिस कार ने उन्हें टक्कर मारी थी, वह एएसआई फारूक शेख की थी। वह बिना घायलों को बचाए वहां से भाग गया था। जांच में नाम आने पर एसपी ने उसे लाइन अटैच किया था।

error: Content is protected !!