Breaking News
.

परिवहन विभाग का अंतरराज्यीय बैरियर और फ्लाइंग स्कॉट अब फिर से

रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार ने एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए अंतरराज्यीय जांच बैरियर को फिर से प्रारंभ करने का निर्णय लिया है। यह बैरियर 4 जुलाई 2017 से बंद था। तीन साल बाद अब फिर से परिवहन विभाग की जांच चौकियां प्रदेश के 16 जगहों में स्थापित हो जाएंगी। इसी तरह एक अन्य निर्णय में परिवहन विभाग का उड़नदस्ता अब फिर से गठित कर दिया गया है।

छत्तीसगढ़ सरकार ने अंतरराज्यीय सीमाओं में अब फिर से परिवहन विभाग की चौकसी बढ़ाने का निर्णय लिया है। सरकार का यह मानना है कि ऑनलाइन टैक्स जमा करने में गड़बड़ी की जा रही है। बड़ी संख्या में दूसरे राज्यों की गाड़ियां छत्तीसगढ़ आ रही है और बेखौफ यहां चल रही है। लोगों को सुविधा दिलाने की मंशा से सरकार ने 4 जुलाई 2017 को एक आदेश जारी कर इसी दिन की मध्य रात्रि से बेरियर और परिवहन चौकियों को हटाने का आदेश जारी किया। पिछले तीन साल में सरकार ने यह महसूस किया कि दूसरे राज्यों से आने वाली गाड़ियों और उससे प्राप्त होने वाली टैक्स में काफी कमी आई है। आज 4 जुलाई 2020 को परिवहन विभाग के संयुक्त सचिव विजय कुमार धुर्वे के हस्ताक्षर से जारी एक आदेश में प्रदेश में फिर से परिवहन चौकियां प्रारंभ करने की जानकारी दी गई है। प्रदेश में कुल 16 परिवहन विभाग की चौकियां बनेगी। इसमें राजनांदगांव जिले में 3, कबीरधाम जिले में 1, महासमुंद जिले में 2, बिलासपुर जिले में 1, बलरामपुर जिले में 2, कोरिया जिले में 2, रायगढ़ जिले में 1, जशपुर जिले में 2, सुकमा में 1 और जगदलपुर में 1 चौकी रहेगी।

परिवहन विभाग ने आज ही एक महत्वपूर्ण आदेश में परिवहन विभाग का उड़नदस्ता फिर से सक्रिय करने का निर्णय लिया है। उड़नदस्ते का गठन राज्य स्तर और जिला स्तर पर अलग-अलग होगा।

error: Content is protected !!