Breaking News
.

ब्राह्मणों को लुभाने के लिए भाजपा ने बनाई 4 सदस्यों की कमेटी, बसपा-सपा को चुनाव में मात देने बनाएंगे वोट बैंक …

लखनऊ । विश्व की सबसे बड़ी पार्टी भारतीय जनता पार्टी ने ब्राह्मण वोट बैंक बनाने व लुभावने वादों में लेने समुदाय के लिए आउटरीच कार्यक्रमों पर निर्णय लेने के लिए चार सदस्यीय समिति का गठन किया है। भाजपा को इस बात का अंदेशा है कि उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण समुदाय उससे असंतुष्ट है। पूर्व केंद्रीय मंत्री शिव प्रताप शुक्ला की अध्यक्षता वाली समिति में अन्य सदस्यों में महेश शर्मा, अभिजीत मिश्रा और राम भाई मोरकिया शामिल हैं।

समिति के प्रमुख शिव प्रताप शुक्ला का मानना है कि, “समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) द्वारा ब्राह्मणों में भ्रम फैलाया जा रहा है कि भाजपा उनके समुदाय की उपेक्षा कर रही है। हम भाजपा द्वारा किए गए कार्यों को जनता तक ले जाने का लक्ष्य रखेंगे और उन्हें इस वास्तविकता से अवगत कराएंगे कि यह भाजपा है जिसने सिर्फ ब्राह्मणों के लिए काम किया है।”

समिति बनाने का निर्णय यूपी में ब्राह्मण समुदाय के नेताओं के साथ केंद्रीय मंत्री और राज्य प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ चर्चा के बाद लिया गया। शिव प्रताप शुक्ला ने कहा, “समिति विपक्ष द्वारा फैलाई जा रही भ्रांतियों को दूर करने का प्रयास करेगी और लोगों को बताएगी कि भाजपा में ब्राह्मण मंत्रियों की संख्या विपक्ष की तुलना में अधिक है।”

नड्डा के साथ बैठक के बाद, समिति के एक अन्य सदस्य, महेश शर्मा ने कहा कि समिति ने पिछले चुनावों में भाजपा की जीत पर चर्चा की और राज्य में आगामी विधानसभा चुनावों की रणनीति पर विचार-विमर्श किया गया। शर्मा ने कहा, “हम उत्तर प्रदेश में फिर से भाजपा की सरकार बनाएंगे और इस बार परिणाम पिछली बार से बेहतर होगा।” उत्तर प्रदेश में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं।

उत्तर प्रदेश में 2017 के विधानसभा चुनावों में, भारतीय जनता पार्टी ने 403 सीटों वाली यूपी विधानसभा में से 312 सीटें हासिल कीं, जबकि समाजवादी पार्टी (सपा) ने 47 सीटें, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने 19 सीटें और कांग्रेस केवल 7 सीटें जीतने में कामयाब रही थी। बाकी सीटों पर अन्य उम्मीदवारों ने कब्जा जमाया था।

error: Content is protected !!