Breaking News
.

सपा की राजनीतिक जमीन मजबूत करने व भाजपा की डिगाने अखिलेश यादव 9 अगस्त को गाजीपुर से निकालेंगे पदयात्रा, तैयारी पूरी …

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सपा की राजनीतिक जमीन मजबूत करने भूतपूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पार्टी को सड़क पर उतारने की तैयारी कर रहे हैं। वे आगामी 9 अगस्त को गाजीपुर से पदयात्रा निकालेंगे जो अपनी पार्टी की जानकारी लोगों को देगी ही इसके साथ ही भाजपा की जड़ें भी खोदेगी। समाजवादी पार्टी यूं तो इस पदयात्रा के जरिए जनजागरूकता और पर्यावरण संरक्षण जैसे मुद्दे भी उठा रही है लेकिन इसका असली मकसद यूपी में पार्टी की जमीन को एक बार फिर मजबूत करना है।

अखिलेश यादव से हाल ही में अलग हुए सुभासपा चीफ ओमप्रकाश राजभर और भाजपा नेता उन पर एसी कमरे में रहकर राजनीति करने का आरोप लगाते रहते हैं लेकिन अब समाजवादी पार्टी सड़क पर अभियान चलाती नज़र आएगी। पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने इसका पूरा प्‍लान तैयार कर लिया है। शुरुआत नौ अगस्‍त को अगस्‍त क्रांति दिवस के मौके पर गाजीपुर से होगी।

समाजवादी पाटी द्वारा घोषित किए गए कार्यक्रम के अनुसार पार्टी नौ अगस्‍त से गाजीपुर से ‘देश बचाओ देश बनाओ समाजवादी पदयात्रा’ निकालेगी। यात्रा का पहला चरण गाजीपुर, बलिया, मऊ, जौनपुर, भदोही होते हुए 27 अक्‍टूबर को वाराणसी में खत्‍म होगा। प्रदेश अध्‍यक्ष नरेश उत्‍तम पटेल द्वारा जारी कार्यक्रम के अनुसार यात्रा की अगुवाई गाजीपुर जिलाध्‍यक्ष अभिषेक यादव करेंगे।

यात्रा नौ अगस्‍त को सुबह 11 बजे गाजीपुर स्थित सपा के जिला कार्यालय से शुरू होगी। 27 अगस्‍त को बलिया, 8 सितम्‍बर को मऊ, 15 सितम्‍बर को आजमगढ़, 3 अक्‍टूबर को जौनपुर, 14 अक्‍टूबर को भदोही, 19 अक्‍टूबर को वाराणसी पहुंचेगी। 27 अक्‍टूबर को पदयात्रा के पहले चरण का समापन होगा। प्रदेश अध्‍यक्ष नरेश उत्‍तम पटेल ने बताया कि पदयात्रा जिन जिलों से गुजरेगी उनके समाजवादी पार्टी कार्यालयों, सभी विधानसभा क्षेत्रों, तहसीलों और ब्‍लॉकों में पहुंचेंगी। यात्रा में समाजवादी पार्टी सदस्‍यता अभियान, तिरंगा झंडा अभियान, नुक्‍कड़ सभा, जुलूस, संगोष्‍ठी वृक्षारोपण और पर्यावरण के प्रति जनजागरूकता के कार्यक्रम होंगे।

राजनीतिक जानकारों का कहना है कि समाजवादी पार्टी यूं तो इस पदयात्रा के जरिए जनजागरूकता और पर्यावरण संरक्षण जैसे मुद्दे भी उठा रही है लेकिन इसका असली मकसद यूपी में पार्टी की जमीन को एक बार फिर मजबूत करना है। अखिलेश यादव पार्टी कार्यकर्ताओं को सड़क पर उतारकर 2024 लोकसभा चुनाव से पहले सपा को यूपी के राजनीतिक प्‍लेटफार्म पर सक्रिय करना चाहते हैं। इसके लिए पार्टी में लगातार मंथन चल रहा है और कार्यक्रम तैयार किए जा रहे हैं।

error: Content is protected !!