Breaking News
.

ओमिक्रॉन के कहर से छत्तीसगढ़ समेत ये राज्य सुरक्षित

दिल्ली। कोराेना वायरस के नए वैरिएंट से छत्तीसगढ़ समेत देश के 7 राज्य अभी भी सुरक्षित हैं। जबकि 20 ही दिनों में यह वायरस देश के 14 से अधिक राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में अपनी जड़ें फैलाने लगा है।

मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार और झारखंड सहित उत्तर भारत के हिमाचल, पंजाब, हरियाणा और उत्तराखंड भी अब तक ओमिक्रॉन के कहर से बचे हुए हैं। दिल्ली में अब तक 57 केस मिल चुके हैं और यह आंकड़ा देश के किसी भी राज्य अथवा केंद्र शासित प्रदेश के मुकाबले सबसे ज्यादा है। गोवा में भी अब तक कोई केस नहीं मिला है। पूर्वोत्तर भारत के सिक्किम, असम, त्रिपुरा समेत सभी 8 राज्य फिलहाल ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले में ग्रीन जोन हैं। देश में ओमिक्रॉन संक्रमण के मामले 200 के पार हो गए हैं। बुधवार को तेलंगाना एक नया मामले मिलने के साथ ही यह आंकड़ा बढ़कर 221 हो गया है। दिल्ली में अब तक 57 केस मिल चुके हैं, जबकि महाराष्ट्र में 54 मामले सामने आए हैं। गुजरात में 14 और राजस्थान में 22 मामले मिलने के बाद से अलर्ट है। महाराष्ट्र ने तो केसों की संख्या में इजाफा होने पर स्कूल बंद करने से लेकर अन्य पाबंदियां लगाने तक की चेतावनी दी है।

देश में ओमिक्रॉन के सबसे पहले दो मामले 2 दिसंबर को कर्नाटक में मिले थे। 14 दिसंबर को मामले बढ़कर 50 हुए। 17 दिसंबर को मामलों की संख्या 100 हुई। अगले 100 केस होने में सिर्फ 5 दिन लगे। देश के 14 राज्यों में ओमिक्रॉन के मामले सामने आए हैं। एक्सपर्ट्स का कहना है कि दिसंबर महीने के अंत तक सावधानी बरतनी होगी यानी अगले दो सप्ताह अहम रहने वाले हैं। कई एक्सपर्ट्स ने फरवरी तक ओमिक्रॉन वैरिएंट का भारत में पीक आने की भी चेतावनी दी है। हालांकि देश में कोरोना के कुल एक्टिव केसों की संख्या घटकर फिलहाल 78 हजार के करीब ही रह गई है।

फ्रांस में कोरोना वायरस (कोविड-19) से संक्रमित 20 फीसदी नए मरीजों में ओमक्रॉन वैरिएंट का पता चला है। फ्रांस सरकार के प्रवक्ता गेब्रियल अट्टल ने यह जानकारी दी। ग्रब्रियल ने कहा कि सोमवार को फ्रांस में कोरोना वायरस से संक्रमित 73,000 नए मामले सामने आए है। सरकार के प्रवक्ता के अनुसार यह 13 दिसंबर के मुकाबले 15 फीसदी अधिक हैं। उन्होंने कहा, कोरोना संक्रमण में कई हफ्तों की कमी के बाद देश में महामारी नए मामले तेजी से फिर से आने शुरू हो गए हैं। इसके साथ ही कोरोना के नए स्वरूप ओमिक्रॉन के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

error: Content is protected !!