Breaking News

छत्तीसगढ़ का मजदूर-व्यापारी और किसान खुशहाल तो सिर्फ भूपेश सरकार रीति-नीति के कारण – कांग्रेस

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि डी पुरंदेश्वरी की पत्रकार वार्ता से यह पूरी तरह से स्पष्ट हो गया है कि भाजपा का राष्ट्रीय नेतृत्व भाजपाई सांसदों और प्रदेश के नेताओं पर कतई भरोसा नहीं रह गया है। डी पुरंदेश्वरी की पत्रकार वार्ता ने भाजपा के छत्तीसगढ़ के नेताओं की क्षमता पर सवालिया निशान खड़े कर दिया है। भाजपा का राष्ट्रीय नेतृत्व छत्तीसगढ़ के भाजपा के किसी भी नेता को इस योग्य नहीं मानता कि उसे नेतृत्व की कमान सौंपी जाए या केंद्रीय मंत्रिमंडल में स्थान दिया जाए। छत्तीसगढ़ की जनता के आगे अपने आप को तीस मार खां साबित करने में लगे भाजपा के नेताओं के लिए यह बेहद दु:खद और अपमानजनक स्थिति है। छत्तीसगढ़ के भाजपा के वरिष्ठ नेताओं पर डी पुरंदेश्वरी का अविश्वास बहुत ही दुख और चिंता का विषय है। डी पुरंदेश्वरी का बयान भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व के छत्तीसगढ़ के प्रति नजरिया को पूरी तरह से स्पष्ट करता है।

उन्होंने कहा कि भाजपा बैठकें करके और रणनीति बनाकर अपने जनविरोधी कृत्यों के परिणाम से छुटकारा नहीं पा सकती है। भाजपा का 15 साल का कुछ आसन छत्तीसगढ़ के गरीबों मजदूर किसानों जंगलों में रहने वालों बस्तर और सरगुजा में रहने वालों ने देखा है और भोगा है। आगामी 20 25 वर्षों तक भाजपा की छत्तीसगढ़ में कोई संभावनायें नहीं है। छत्तीसगढ़ के लोग भाजपा की केंद्र सरकार के छत्तीसगढ़ विरोधी गरीब विरोधी किसान विरोधी मजदूर विरोधी चरित्र को अब समझ चुके हैं।

शैलेश ने कहा कि छत्तीसगढ़ के किसान आज खाद की कमी से जूझ रहा है। छत्तीसगढ़ की प्रमुख फसल धान है और आज जब किसान को खाद की जरूरत है ऐसे समय उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश को जरूरत से ज्यादा खाद देकर छत्तीसगढ़ के किसानों को भाजपा की मोदी सरकार खाद से वंचित कर रही है। भाजपा की मोदी सरकार और 15 साल तक भाजपा की छत्तीसगढ़ सरकार ने हमेशा किसानों के हक में और हितों के खिलाफ ही काम किया। किसानों की आय के एकमात्र स्रोत धान की फसल उगाने के समय खाद के कृत्रिम संकट को पैदा कर किसानों की रोजी-रोटी पर हमला किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ में खाद की कमी किसानों के लिए मोदी निर्मित आपदा है।

15 साल भाजपा की रमन सिंह सरकार ने छत्तीसगढ़ के साथ और खासकर छत्तीसगढ़ के किसानों के साथ जो वादाखिलाफी और धोखाधड़ी की है उसे अभी लोग भूले नहीं है। 300 रुपए बोनस 2100 रुपए धान का समर्थन मूल्य 5 HP पंपों की मुफ्त बिजली हर आदिवासी परिवार को 10 लीटर दूध देने वाली जर्सी गाय जैसे बड़े बड़े वादों को भाजपा ने  पूरा नहीं किया। 15 साल का भाजपा का शासन काल छत्तीसगढ़ के किसानों मजदूरों नौजवानों के लिए सिर्फ धोखाधड़ी और वादाखिलाफी का इतिहास रहा है।

आज कांग्रेस की सरकार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ठोस काम कर रही है। अपने वादे निभा रही है। किसानों की 9000 करोड़ की कर्ज माफी कांग्रेस सरकार ने की है। धान का दाम 2500 रुपए प्रति क्विंटल कांग्रेस की सरकार ने दिया है। भाजपा से यह बर्दाश्त नहीं हो रहा है देखा नहीं जा रहा है। डी पुरंदेश्वरी के आज के बयानों से भाजपा की यही छत्तीसगढ़ विरोधी गरीब विरोधी सोच स्पष्ट उजागर हुई है।

शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि आज पत्रकारों ने भाजपा के राष्ट्रीय नेताओं से पूछा कि उनकी सरकार आने पर धान का दाम 2500 रुपए मिलेगा क्या तो वे खामोश हो गए। बात को इधर-उधर घुमाने लगे। पूरा छत्तीसगढ़ इस बात को समझ गया है कि आज कांग्रेस की सरकार है मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार है तो किसानों को उनकी फसल का सही दाम मिल पा रहा है। किसानों की कर्ज माफी इसीलिए हुई है। मनरेगा में छत्तीसगढ़ सरकार देश में सबसे अच्छा काम कर रही है। देश की कुल वनोपज की 73% खरीद छत्तीसगढ़ में हुई है। आज यदि छत्तीसगढ़ का मजदूर किसान व्यापारी खुशहाल है तो सिर्फ इसलिए क्योंकि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार है मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार है।

error: Content is protected !!