Breaking News
.

विश्व युद्ध में बदल रही जंग, बेलारूस बोला- रूस के साथ लड़ेगी सेना, लातविया का यूक्रेन को समर्थन …

कीव। रूस और यूक्रेन के बीच चल रहा महायुद्ध आने वाले दिनों में विश्व युद्ध में भी तब्दील हो सकता है। सोमवार को एक तरफ बेलारूस ने रूस की सेनाओं के साथ जंग में उतरने की बात कही है तो वहीं यूक्रेन को लातविया का समर्थन मिलता दिख रहा है। लातविया की संसद में एकमत से प्रस्ताव पारित किया गया है कि यदि उसके नागरिक यूक्रेन की मदद को युद्ध में उतरना चाहते हैं तो उन्हें इसकी अनुमति है। लातविया की संसद की डिफेंस, होम अफेयर्स कमिटी के चेयरमैन जुरिस रैनकैनिस ने कहा, ‘हमारे नागरिक जो यूक्रेन की मदद करना चाहते हैं और जो वॉलंटियर के तौर पर काम करना चाहते हैं ताकि यूक्रेन की आजादी की रक्षा की जा सके। वे ऐसा कर सकते हैं।’

लातविया नाटो संगठन का हिस्सा और एक वक्त में सोवियत संघ का हिस्सा रह चुका है। ऐसे में उसकी यह घोषणा अहम हो जाती है और यदि रूस की ओर से लातविया पर किसी भी तरह का अटैक किया जाता है तो फिर नाटो देश भी जंग में उतर सकते हैं। यदि ऐसा होता है यह विश्व युद्ध की शुरुआत होने जैसा होगा। यूक्रेन और रूस के बीच 5 दिनों से चल रही जंग अब तक दोतरफा ही रही है, लेकिन बेलारूस और लातविया के ऐलान ने चिंताओं में इजाफा कर दिया है। इस बीच यूक्रेन में लोग तेजी से पलायन कर रहे हैं। लोग अपने घरों को छोड़कर पोलैंड, हंगरी जैसे देशों का रुख कर रहे हैं। अब तक कुल 3.5 लाख लोग बेघर हो चुके हैं।

हालांकि इस बीच एक बड़ी उम्मीद जगी है। रूस और यूक्रेन के प्रतिनिधिमंडल के बीच दोपहर 3:30 बजे बेलारूस में बातचीत होगी। इस संकट के बीच भारत ने अपने नागरिकों को निकालने के प्रयासों को तेज कर दिया है। भारत सरकार ने छात्रों और अन्य लोगों को निकालने के लिए ऑपरेशन गंगा की शुरुआत की है। इसके चलते मोदी सरकार के 4 मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, हरदीप सिंह पुरी, वीके सिंह और किरेन रिजिजू यूक्रेन के पड़ोसी देशों में जाएंगे और भारतीयों को निकलने में मदद करेंगे। हरदीप सिंह पुरी हंगरी के लिए निकलेंगे। इसके अलावा वीके सिंह पोलैंड जा रहे हैं। किरेन रिजिजू को स्लोवाकिया भेजा जाएगा और ज्योतिरादित्य सिंधिया रोमानिया जाएंगे।

error: Content is protected !!