Breaking News
.

चापलूस सरकारी अफसर ने छुए अपने से कम उम्र की राज्यमंत्री के पैर, फिर सफाई दी, बोले-इसमें गलत क्या है …

नई दिल्ली (पंकज यादव) । राजनीति का यह कोई प्रोटोकॉल नहीं है लेकिन लोग अक्‍सर नेताओं के प्रति सम्‍मान या अपनी निष्‍ठा प्रकट करने के लिए पैर छूते नज़र आते हैं। यह आम बात है लेकिन यदि कोई सरकारी अफसर किसी मंत्री का पैर छुए, वो भी अपने से कम उम्र की मंत्री का तो इस पर हर किसी का ध्‍यान जाना स्‍वाभाविक है। ऐसा ही एक दृश्‍य कानपुर में तब देखने को मिला जब बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार महिला कल्याण राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार स्वाती सिंह मंगलवार को वहां अचानक बालगृह बालक कल्याणपुर का निरीक्षण करने पहुंचीं।

मंत्री पहुंची तो थीं औचक निरीक्षण के लिए लेकिन वहां जो कुछ हुआ उसने वहां खुद उन्‍हें और वहां मौजूद अन्‍य लोगों को हतप्रभ कर दिया। हुआ ये कि मंत्री स्‍वाती सिंह जैसे ही बाल गृह पर पहुंचीं वहां मौजूद लोग उन्हें प्रणाम करने लगे. इसी दौरान अधीक्षक आरके अवस्थी उनके पैर छूने के लिए पूरी तरह से झुक गए। अपने से अधिक उम्र के अधीक्षक को यूं उनके पैरों पर झुकता देख मंत्री ने तुरंत अपने पैर पीछे खींच लिए। इसके बाद उन्‍होंने अधीक्षक से कहा कि, ‘… अरे, आप ये क्या कर रहे हैं, आप तो ऐसे मत कीजिए।’ उन्‍होंने अधीक्षक से फिर कभी ऐसा न करने के लिए कहा।

मंत्री और अधीक्षक के बीच चंद सेकेंड के इस वार्तालाप पर उस वक्‍त सभी का ध्‍यान गया लेकिन बात वहीं आई-गई हो गई। मंत्री ने अपना निरीक्षण पूरा किया और व्‍यवस्‍था में सुधार के लिए जरूरी दिशा निर्देश दिए लेकिन थोड़ी देर बाद ही मंत्री के पैर छूने के लिए झुके अधीक्षक का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने लगा। बाद में इस बारे में पूछे जाने पर अधीक्षक आर.के.अवस्‍थी ने मीडिया से कहा कि इसमें गलत क्‍या है। यह तो हमारे संस्‍कार हैं। मैं तो उन्‍हें अपनी बहन मानता हूं लेकिन जब मैडम ने मना कर दिया तो मैं भी रुक गया था।

error: Content is protected !!