Breaking News
.

सिद्धू मूसेवाला की हत्या की स्क्रिप्ट लिखी गई थी तिहाड़ जेल में, लॉरेंस बिश्नोई ने ऐसी रची साजिश ….

नई दिल्ली। सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के मुख्य साजिशकर्ता गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को पंजाब पुलिस सात दिन की रिमांड में मानसा से मोहाली ला चुकी है। बुधवार को पुलिस टीम ने बिश्नोई की 10 दिन की रिमांड ली थी लेकिन कोर्ट ने सिर्फ 7 दिन रिमांड ही मंजूर की। लॉरेंस बिश्नोई से पंजाब की एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स पूछताछ करेगी।

पंजाबी सिंगर और कांग्रेसी नेता सिद्धू मूसेवाला की हत्या की प्लानिंग तिहाड़ जेल में इस तरीके से रची गई मानो कोई फिल्मी स्टोरी हो। मीडिया रिपोर्ट्स हैं कि लॉरेंस बिश्नोई ने जेल में मूसेवाला की हत्या की साजिश रची। इसमें उसकी मदद कनाडा में बैठे उनके गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने की थी। गोल्डी बराड़ की मदद से ही बिश्नोई ने अपने भाई को यूरोप शिफ्ट कराया।

दरअसल, बिश्नोई गैंग के मेंबर गोल्डी बराड़ ने मूसेवाला की हत्या का कुछ देर बाद अनऑफिशियल फेसबुक अकाउंट से दावा किया था कि उन्होंने ही मूसेवाला की हत्या की है। बराड़ ने इसे बदले की कार्रवाई करार दिया था। सूत्रों के मुताबिक, लॉरेंस बिश्नोई से दिल्ली पुलिस की पूछताछ में पता चला कि सिद्धू की हत्या की साजिश विक्की मिड्दुखेड़ा की हत्या के बाद रची गई थी।

रिपोर्ट के मुताबिक, लॉरेंस बिश्नोई ने सिद्धू मूसेवाला की हत्या की साजिश तिहाड़ जेल में रची। यह बात सामने आई है कि हत्या की प्लानिंग के लिए बिश्नोई ने कनाडा में बैठे गैंग के मेम्बर गोल्डी बराड़ से फोन पर बात की थी।

सूत्रों के अनुसार, बिश्नोई ने मूसेवाला को पहले घर पर ही मारने की साजिश रची थी लेकिन सुरक्षा कर्मियों के कारण यह मुमकिन नहीं हो पाया। इसके बाद घर के बाहर भी एक और साजिश नाकाम हुई।

सूत्रों के अनुसार, लॉरेंस बिश्नोई के निर्देश पर गैंग के सदस्य मूसेवाला पर लगातार नजर बनाए हुए थे। हत्या वाले दिन जब मूसेवाला बिना बुलेट प्रूफ गाड़ी और सुरक्षा कर्मियों के घर से बाहर निकले तो बिश्नोई को जेल तक सूचना पहुंचाई गई। इसके बाद हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया।

सूत्रों के अनुसार लॉरेंस बिश्नोई ने गोल्डी बराड़ की मदद से अपने भाई अनमोल बिश्नोई को यूरोप शिफ्ट करवाया ताकि पुलिस कार्रवाई से वह बच निकले।

error: Content is protected !!