Breaking News
.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का चला जादू, जीत के साथ खैरागढ़ रचेगा इतिहास, जिला बनाने की तैयारी में जुटे अफसर ….

रायपुर। छत्तीसगढ़ के खैरागढ़ उप चुनाव में प्रदेश के यश्स्वी सीएम भूपेश बघेल का जिला बनाने का दांव चल गया। खैरागढ़ विधानसभा क्षेत्र की जनता ने हाथ का साथ देकर खैरागढ़-छुईखदान-गुंडई को जिला बनाने पर मुहर लगा दी। उपचुनाव के रुझानों में कांग्रेस की जीत के साथ नया जिला बनाने की प्रशासनिक कवायद भी शुरू हो गई है। सरकार ने सामान्य प्रशासन और राजस्व विभाग को काम पर लगा दिया है। रविवार शाम तक नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया जाएगा।

बता दें कि खैरागढ़ उपचुनाव में कांग्रेस ने घोषणापत्र जारी किया था, जिसमें पहला ही वादा नये जिले का था। सीएम भूपेश बघेल ने ऐलान किया था कि 16 अप्रैल को रिजल्ट आएगा। कांग्रेस को समर्थन मिला तो 24 घंटे के भीतर 17 अप्रैल को ‘खैरागढ़-छुईखदान-गंडई’ को जिला बना दिया जाएगा। सीएम के इस दांव के आगे भाजपा की रणनीति फेल हो गई। एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल, पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह सहित भाजपा के दिग्गज नेताओं के जीत के दावों का जनादेश ने दम निकाल दिया। 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस तीसरे नंबर पर थी। जेसीसीजे की यह सीट अब अब कांग्रेस के खाते में चली गई। खैरागढ़ विधानसभा की जनता कांग्रेस की जीत के साथ ‘खैरागढ़-छुईखदान-गंडई’ जिले का जश्न मना रही है।

18 राउंड की गिनती के बाद यह साफ हो गया है कि कांग्रेस उम्मीदवार यशोदा वर्मा की जीत के सामने बड़ी चुनौती नहीं बची है। सरकार पर वादे को समय पर पूरा करने का दबाव है। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि भूपेश है तो भरोसा है…। जनादेश का सम्मान करते हुए प्रदेश सरकार ने अधिकारियों के साथ बैठक कर जिले गठन की तैयारी शुरू कर दी है। जीत की औपचारिक घोषणा के साथ 24 घंटे के भीतर कांग्रेस द्वारा यह वादा भी पूरा कर दिया जाएगा।

राजनांदगांव जिला अब तीन जिलों में बंट जाएगा। भूपेश सरकार ने नक्सल प्रभावित मोहला-मानपुर-चौकी को जिला बनाने की घोषणा पहले ही कर चुके हैं। अब खैरागढ़-छुईखदान-गंडई के नया जिला बनाया जा रहा है। प्रस्तावित मोहला-मानपुर-चौकी जिले में अंबागढ़ चौकी, मोहला और मानपुर तहसीलें को शामिल किया जाएगा। वहीं खैरागढ़-छुईखदान-गंडई जिले में खैरागढ़, साल्हेवारा और छुईखदान तहसीलों के साथ डोंगरगढ़ तहसील का भी कुछ हिस्सा शामिल हो सकता है। राजनांदगांव जिले में अब सिर्फ राजनांदगांव, डोंगरगढ़, डोंगरगांव और छुरिया तहसील ही रहेंगी।

error: Content is protected !!