Breaking News
.

प्रेमी ने चरित्रशंका पर कर दी थी हत्या, डेढ़ साल बाद मिला प्रेमिका का कंकाल ….

अंबिकापुर। जिले के चांदनी बिहारपुर में डेढ़ वर्ष से लापता युवती का कंकाल प्रेमी की निशानदेही पर जंगल में गड़ा हुआ मिला। पुलिस ने मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में खुदाई के बाद युवती का कंकाल बरामद किया है। युवती विवाह के बाद पति को छोड़कर मायके आ गई थी और प्रेमी के साथ रहने लगी थी। प्रेमिका के चरित्र पर शंका को लेकर दोनों के बीच विवाद हुआ तो प्रेमी ने डंडा मारकर उसकी हत्या कर दी और अपने पिता के साथ मिलकर शव को दफना दिया था। जिस युवती से प्रेम करता था उसकी बेरहमी से हत्या मामले में आरोपी पति व पिता को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

एएसपी हरीश राठौर ने बताया कि 9 जनवरी 2021 को सोनी साहू के गुमशुदगी की रिपोर्ट उसके प्रेमी तीरथराम यादव ने थाने में दर्ज कराई थी। उसने सोनी साहू को अपनी पत्नी बताया था। करीब डेढ़ वर्ष तक सोनी साहू का पता नहीं चला। सोनी साहू की मां ने पुलिस अधिकारियों से मुलाकात कर मामले की जांच की मांग की थी। सूरजपुर एसपी रामकृष्ण साहू को मामले की जानकारी हुई तो उन्होंने चांदनी पुलिस को मामले की फिर से जांच करने का आदेश दिया। पुलिस ने तीरथराम यादव को हिरासत में लेकर पूछताछ की। पहले तो वह गुमराह करता रहा, लेकिन कड़ाई करने पर वह टूट गया।

चांदनी थाना के प्रभारी बसंत खलखो ने बताया कि तीरथराम यादव को पहले हिरासत में लिया गया। पूछताछ में वह गुमराह करता रहा। इसके बाद कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने अपराध स्वीकार लिया। तीरथ ने बताया कि 3 जनवरी 2021 को सोनी साहू के सिर पर डंडा मारकर उसकी हत्या कर दी थी। उसने अपने पिता राममोहन यादव के साथ मिलकर सोनी साहू के शव को अपने घर के पीछे कसीरा चुटकूल पहाड़ के पास जमीन में दफना दिया। पुलिस ने कार्यपालिक मजिस्ट्रेट बिहारपुर बिहारीलाल राजवाड़े की मौजूदगी में खुदाई कराई तो सोनी साहू का कंकाल एवं कपड़े बरामद हुए। पुलिस ने प्रेमी तीरथराम यादव व उसके पिता राममोहन यादव के खिलाफ धारा 302, 201, 34 भादवि के तहत अपराध दर्ज कर दोनों को गिरफ्तार किया है।

थाना प्रभारी चांदनी बसंत खलखो ने बताया कि सोनी साहू व तीरथराम के बीच प्रेम संबंध था। सोनी साहू का विवाह उत्तर प्रदेश मुरादाबाद में सन 2020 में में हुआ था। विवाह के बाद सोनी साहू वापस मायके लौट आई और तीरथराम के पास चली गई। दोनों अपने माता-पिता से अलग रह रहे थे। सोनी साहू बिना बताये कई बार कहीं चली जाती थी और 2-3 दिन रहने के बाद वापस अपने पति के पास आ जाती थी।

तीरथराम यादव इसे लेकर अपने पत्नी सोनी साहू के चरित्र पर शंका करता था। दोनों के बीच कई बार इसे लेकर विवाद भी हुआ। घटना के दिन सोनी साहू अपने घर से बिना बताए शाम 6 बजे एक व्यक्ति के यहां झाड़फूंक कराने चली गई। उस व्यक्ति ने 3 जनवरी को सुबह 4 बजे भोर में घर पर लाकर छोड़ा। इसे लेकर विवाद हुआ, जिसके बाद बाद प्रेमी व पति तीरथराम ने उसकी हत्या कर दी।

error: Content is protected !!