Breaking News
.

कांग्रेस के चिंतन शिविर में आया ईवीएम का ‘जिन्न’, गठबंधन और बॉलीवुड पर भी हुई बात …

उदयपुर। कांग्रेस नवसंकल्प चिंतन शिविर में बैलट पेपर से चुनाव कराने की मांग उठी है। इस दौरान ईवीएम पर प्रतिबंध लगाने की बात भी सामने आई। शिविर में कहा गया कि 2024 के आम चुनावों में कांग्रेस के घोषणा पत्र में इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन पर प्रतिबंध लगाने के मुद्दे को शामिल किया जाए। दो दिन के विचार-विमर्श के दौरान कांग्रेस नेताओं के बीच यह मुद्दा ज्यादातर नेताओं ने उठाया।

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और राजनीतिक कमेटी पैनल के सदस्य पृथ्वीराज चव्हाण ने कहाकि सभी नेता इस पर सहमत हैं कि मौजूदा भाजपा से ईवीएम बैन करने का आग्रह व्यर्थ है। इस पर एक सदस्य ने तर्क दिया कि इस मुद्दे को 2024 के लिए कांग्रेस के चुनाव घोषणापत्र में शामिल किया जाए। ईवीएम पर प्रतिबंध लगाने और कागजी मतपत्रों पर लौटने का संकल्प लिया जाए। राजनीतिक कमेटी में शामिल सदस्यों ने कहाकि जापान और अमेरिका ने ईवीएम के साथ प्रयोग किया था। इलेक्ट्रॉनिक मशीनों के कामकाज में कमियां स्वीकारने के बाद यह देश बैलेट पेपर पर लौट आए। चव्हाण ने कहाकि राजनीतिक समूह ने ईवीएम और उनकी सत्यता पर व्यापक चर्चा की। उन्होंने व्यक्तिगत रूप से कुछ अन्य नेताओं के साथ सुझाव दिया कि पार्टी को इस मुद्दे पर एक रुख अपनाने की जरूरत है।

राजनीतिक कमेटी ने इस बात पर जोर दिया कि भाजपा को हराने के लिए राज्य स्तर पर समान विचारधारा वाली पार्टियों से गठबंधन किया जाएगा। हालांकि इस मुद्दे पर कुछ लोगों की भिन्न राय थी। उनका कहना था कि पार्टी को अकेले ही मजबूती के साथ आगे बढ़ने की जरूरत है। यह कदम दूरगामी होगा। इस दौरान इस मुद्दे पर भी चर्चा की गई कि भाजपा अभिनेताओं के जरिए महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे, शरद पवार पर हमला कर रही है। इस चुनौती से निपटने के तरीकों पर भी जोर दिया जाना चाहिए। सांसद नवनीत राणा, मनसे प्रमुख राज ठाकरे और अन्य अभिनेताओं ने शरद पवार विरोधी लेख लिखे हैं।

error: Content is protected !!