Breaking News
.

युवक की हत्या कराने वाले चारों आरोपी पकड़ाए, फौजी निकला मास्टर माइंड…

कोरबा। कोरबा जिले की पुलिस ने एक आर्मी जवान और उसके तीन दोस्तों को गिरफ्तार किया है। मामला हत्या का है। ये चारों एक मर्डर की प्लानिंग और फिर एक बेगुनाह की जान लेने के कांड में शामिल हैं। आर्मी जवान का नाम संजीव उर्फ संजू साहू है। हत्या की वारदात में इसका साथ देने वाले दोस्त पालेश्वर दास मानिकपुरी, मंगल दास महंत और चंद्रादास उदास है। 22 अक्टूबर को कोरबा के राजगामार इलाके में कुलदीप बंजारे नाम के युवक की हत्या आरोप में इनकी गिरफ्तारी के बाद चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं।

करुमौहा गांव के बाहर एक जंगल के पास कुलदीप बंजारे की लाश मिली थी। कुलदीप पर चाकू से कई वार किए गए थे। खून से लथपथ लाश को देखकर पुलिस को ये बात समझ आई थी कि किसी प्लानिंग के तहत ये कांड किया गया मगर करीब एक महीने तक ये पता ही नहीं लग पाया कि आखिर इस हत्याकांड के पीछे कौन लोग शामिल हैं। पुलिस का फोकस इस बात पर था कि कुलदीप को किसी ने रुपयों के लेन, देन, पुराने झगड़े का बदला लेने मारा होगा। मगर कुछ दिन पहले पुलिस को एक इनपुट मिला जिससे सारा केस खुलकर सामने आया।

जांच में जुटी टीम को पता चला कि तीन लोग बाइक में सवार होकर अक्सर कुलदीप के पास आया करते थे। वो उससे बातें किया करते थे। घटना से पहले भी गांव के लोगों ने तीन नकाबपोश लोगों को कुलदीप से बातें करते देखा। पुलिस अब तीन युवकों की तलाश में जुटी। उनके आने-जाने के रास्तों में लगे CCTV कैमरों को खंगाला गया। पुलिस ने युवकों की पहचान की और पकड़ लिया। ये तीनों इस पूरे केस के मास्टर माइंड संजीव के दोस्त थे।

गिरफ्तार किए गए पालेश्वर दास मानिकपुरी, मंगल दास महंत और चंद्रादास उदास ने पुलिस को बताया कि ये हत्या उन्होंने अपने दोस्त संजीव के कहने पर की। संजीव ने इस हत्या को अंजाम देने के लिए इन्हें 2 लाख 30 हजार रुपए दिए थे। दरअसल भारतीय सेना में जवान संजीव जिस लड़की से प्यार करता था वो कुलदीप की पत्नी बन चुकी थी। घर वालों के राजी न होने की वजह से उसकी शादी कुलदीप से हुई। संजीव शादी के बाद भी अपनी माशूका से बातें करता था।

ये था मर्डर प्लान

संजीव ने प्रेमिका के पति को रास्ते से हटाकर उससे शादी करने का फैसला किया। आरोपी की पोस्टिंग लद्दाख में थी। उसने अपने दोस्तों को कुलदीप की हत्या करने के लिए राजी किया। रुपयों का लालच दिया। कुलदीप की फोटो भेजकर प्लान बताया। संजीव के तीनों दोस्तों ने कुलदीप से मुलाकात की। उससे कहा कि वो कुलदीप के गांव के बाहर एक जगह पर गड़ा हुआ धन ढूंढ ने जा रहे हैं, अगर कुलदीप मदद करेगा तो उसे हिस्सा मिलेगा। वो अक्सर कुलदीप के घर पास जाकर उससे मिलते थे। जब उसे विश्वास में ले लिया तो गांव के बाहर खजाना दिलाने के बहाने ले गए और चाकू मारकर हत्या कर दी। अब पुलिस लद्दाख से इस केस के मास्टर माइंड सेना के जवान को पकड़कर कोरबा ले आई है।

error: Content is protected !!