Breaking News
.

एसईसीएल की सब्सिडियरी ईस्ट रेल कोरिडोर के धरमजयगढ स्टेशन से आज भेजा गया कोयले भरा पहला रेक ….

कोरबा। कोरबा का धरमजयगढ स्टेशन अब रेलवे के नक़्शे पर माल ढुलाई केंद्र के रूप में देशभर में प्रतिष्ठित हो चुका है। धरमजयगढ एसईसीएल की रेल कॉरिडोर कम्पनी छत्तीसगढ़ ईस्ट रेलवे लिमिटेड द्वारा विकसित फ़्रेट स्टेशन है जिसके चालू हो जाने से कम्पनी के कोयले के डिस्पैच की क्षमता में लगभग तीन रेक प्रतिदिन का विस्तार होने की आशा है।

आज पहली बार यहाँ कोयले से भरे रेलवे रैक की लदान पूरी हुई और उसे एनटीपीसी-सेल पॉवर कम्पनी भिलाई को भेज दिया गया। भेजा गया कोयला एसईसीएल के जामपाली खदान का था जिसे रोड सह रेल मोड पर लोड किया गया।

सीईआरएल द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य के महत्वपूर्ण कोलफ़ील्डस से कोयले के त्वरित डिस्पैच के उद्देश्य से रेल लाईन बिछाई जा रही है। एसईसीआर ज़ोन के अंतर्गत आने वाले खरसिया से धरमजयगढ (74 किमी) मुख्य लाईन तथा घरघोड़ा से भालूमाड़ा(13.5 किमी) स्पर लाईन की कमिशनिंग का कार्य पूरा किया जा चुका है।

यह प्रोजेक्ट पीपीपी मॉडल पर विकसित की जा रही है। एसईसीएल की सब्सिडियरी सीईआरएल परियोजना की लागत लगभग 3055 करोड़ रुपए होगी ।

error: Content is protected !!