Breaking News
.

खेत में फसल देखने गए किसान को हाथियों ने कुचल कर मार डाला, बाइक सवारों ने छत पर चढ़कर बचाई जान ….

बालोद । जिले के ग्राम मुल्ले में हाथियों ने एक किसान को सूंड से उठाकर पटक दिया और पैरों से कुचलकर मार डाला। गांव के करीब हाथियों का झुंड पहुंचने से दहशत है। हाथियों की निगरानी के लिए वन कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है और उनकी मौजूदगी वाले स्थानों दूर रहने मुनादी कराई गई है। हाथियों की दहशत से लोग छतों में रहने मजबूर हैं। सूचना पर वन विभाग की टीम गांव पहुंची।

मिली जानकारी के मुताबिक ग्राम मुल्ले एक दंतैल हाथी ने किसान रामजी सिंगरामे (47 वर्ष) को कुचल कर मार डाला है। किसान खेत की ओर फसल देखने गया था, तभी हाथियों से उसका सामना हो गया। वह अपनी जान बचाने भागा, लेकिन हाथी ने उसे पकड़ लिया और पैरों से कूचल दिया। इसके बाद हाथी गांव की ओर भी घुस गए, जिससे ग्रामीणों में दहशत है। हाथियों से बचने ग्रामीणों ने छतों में पनाह लिया है। घटना की सूचना मिलने के बाद वन विभाग की टीम गांव पहुंची है। गांव के उप सरपंच पुनीत राम सेवता ने बताया कि हाथियों की वजह से दहशत है। हाथी गांव में घुस आया है।

किसान पर हमला करने के बाद हाथी वहीं पर डटे रहे। हाथियों के हिंसक हो जाने से कोई हिम्मत नहीं कर पाया। वन विभाग को सूचना दी गई। इस बीच हाथी गांव की तरफ पहुंच गए। कुछ लोग अपनी गाड़ियां छोड़कर छत में चढ़ गए। गांव के ही नोहर साहू ने बताया कि उनके सामने 2 बाइक सवारों पर हाथी ने हमला कर दिया। वह अपनी जान बचाकर जैसे तैसे भागे। एक ग्रामीण छत पर चढ़ गया। कई लोग इसी तरह अलग-अलग छतों में पनाह लिए हैं।

बता दें कि 24 चंदा हाथियों का दल दो-तीन दिन पहले ही दल्ली व डौंडीलोहारा वन परिक्षेत्र से निकलकर उत्तर मानपुर दाखिल हो गया था। वहीं बालोद रेंज की ओर 2 दंतैल अलग होकर पहले से घूम रहे थे। वह अचानक से गायब थे, लेकिन मुल्ले गांव की इस घटना से एक बार फिर वन विभाग अलर्ट हो गया। तालगांव नर्सरी के पास विचरण कर रहे गजराज ने किसान पर हमला किया है। बालोद जिले में हाथियों के हमले से मौत की यह चौथी घटना है।

error: Content is protected !!