Breaking News
.

लखीमपुर के किसानों को भाजपा सरकार से कहीं ज्यादा मदद देगी छत्तीसगढ़ और पंजाब की कांग्रेस सरकार, किया ऐलान …

नई दिल्ली। मारने वाले से बड़ा बचाने वाला होता है। यही कहावत भाजपा शासित उत्तर प्रदेश में सच होती दिखाई दे रही है। यहां किसानों को अपनी गाड़ी के पहियों के नीचे कुचल कर मारने वाले भाजपा के केंद्रीय मंत्री को लेकर देशभर में सियासत उबाल पर है। वहीं देशभर के किसान भाजपा से किनारा करने लगे हैं। वहीं मृतक के परिजन को आर्थिक मदद देने के बजाया पार्टी राजनीति करने पर उतारू है। भाजपा विपक्षी दल को मृतकों के परिजन से मिलने से रोकने के लिए  एड़ी चोटी का जो लगा रही है तो वहीं व पूरी प्रशासनिक ताकत इसी काम में झोंक दी है। जिसका सभी जगह खुले रूप में विरोध हो रहा है। यही नहीं  उत्तरप्रदेश में सत्तासीन भाजपा ने मृतक के परिजन को जितनी मदद की घोषणा की है उससे कहीं ज्यादा ममद की घोषण छत्तीसगढ़ व पंजाब के मुख्यमंत्रियों ने की है। जिससे लोग छत्तीसगढ़ व पंजाब के मुख्यमंत्रियों का खुले दिल सेे सराहना कर रहे हैं और भाजपा को किसानों के  मामले में भगवान से सद्बुद्धि देने की कामना कर रहे हैं। 

भाजपा के केंद्रीय मंत्री की गाड़ी से उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में कुचलकर मारे गए किसानों के परिवारों के लिए छत्तीसगढ़और पंजाब की कांग्रेस सरकार ने भी आर्थिक मदद का ऐलान किया है। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसानों के साथ एकजुटता जाहिर करते हुए कहा कि मृतकों के परिवारों को 50-50 लाख रुपए देने का ऐलान किया है। उन्होंने घटना की कवरेज के दौरान मारे गए पत्रकार के परिवार को भी 50-50 लाख रुपए देने की बात कही है।

दोनों राज्य मारे गए किसानों और पत्रकार के परिवार को कुल 1 करोड़ रुपए की सहायता देंगे। योगी सरकार पहले ही 47-47 लाख रुपए और सरकारी नौकरी देने का ऐलान कर चुकी है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ लखीमपुर खीरी में पीड़ित परिवारों से मिलने के लिए लखनऊ में लैंड करने के बाद चरणजीत सिंह ने कहा, ”हम मारे किए किसानों के परिवारों के साथ हैं। पंजाब सरकार की ओर से मैं पत्रकार सहित मारे गए लोगों के परिवारों को 50-50 लाख रुपए देने का ऐलान करता हूं।”

के साथ खड़े छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने भी किसानों के लिए आर्थिक मदद का ऐलान किया। उन्होंने कहा, ”छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से मैं हिंसा में मारे गए किसानों और पत्रकार के परिवारों को 50-50 लाख रुपए देने का ऐलान करता हूं।”

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में रविवार को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव के दौरे के विरोध को लेकर भड़की हिंसा में चार किसानों समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी। चार किसानों के अलावा तीन बीजेपी कार्यकर्ता और केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के ड्राइवर की मौत हो गई थी। इस दौरान घायल हुए पत्रकार रमन कश्यप ने भी अगले दिन दम तोड़ दिया था। इस मामले में मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

error: Content is protected !!