Breaking News
.

उत्तर प्रदेश का हाल- बेहाल : पहले ही दिन 4 लाख से ज्यादा छात्रों ने छोड़ दी यूपी बोर्ड की परीक्षा ….

लखनऊ। नकलविहीन परीक्षा को लेकर शासन की सख्ती के कारण यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा के पहले दिन ही चार लाख से अधिक छात्र-छात्राओं ने पेपर छोड़ दिया। नकल रोकने और शुचितापूर्वक परीक्षा संपन्न कराने के लिए प्रदेश के 254 अतिसंवेदनशील और 861 संवेदनशील केंद्रों पर एसटीएफ, एलआईयू और स्थानीय पुलिस को लगाया गया था।

पहले दिन सुबह 8 से 11.15 बजे की पाली में हाईस्कूल हिन्दी, प्रारंभिक हिन्दी व इंटर सैन्य विज्ञान जबकि 2 से 5.15 बजे की दूसरी पाली में इंटर हिन्दी व सामान्य हिन्दी का पेपर था। बोर्ड मुख्यालय को सभी 75 जिलों से मिली सूचना के मुताबिक पहली पाली में 2,61,058 छात्र-छात्राएं अनुपस्थित थे। दूसरी पाली की सूचना जिलों से रात नौ बजे तक प्राप्त नहीं हो सकी थी।

हालांकि सूत्रों के अनुसार दूसरी पाली में डेढ़ लाख परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। दोनों पालियों में 100 से अधिक नकलचियों के पकड़े जाने की सूचना थी। प्रदेशभर में बने सभी 8373 केंद्रों पर स्टैटिक मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई थी। केंद्र व्यवस्थापक व स्टैटिक मजिस्ट्रेट को छोड़कर परीक्षा केंद्र के अंदर किसी को भी फोन ले जाने की अनुमति नहीं थी। लखनऊ से कार्यालय संवाददाता के अनुसार हाईस्कूल और इंटर के अभ्यर्थियों ने पहली और दूसरी पाली में हिन्दी और प्रारंभिक हिन्दी का प्रश्न पत्र हल किया। तीन घंटे के बाद परीक्षा देकर बाहर निकले परीक्षार्थियों के चेहरों पर सरल प्रश्न पत्र होने की खुशी थी। राजधानी में पहले दिन दोनों पाली में 6,716 छात्र-छात्राओं ने परीक्षा छोड़ दी। 92,113 छात्र-छात्राएं हाईस्कूल और इंटर में पंजीकृत थे।

पहली पाली में पंजीकृत 47,679 छात्र-छात्राओं में से 44,479 छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल हुए और 3,192 ने परीक्षा छोड़ दी। वहीं दूसरी पाली में पंजीकृत 42883 पंजीकृत विद्यार्थियों में से 39359 छात्र-छात्राओं ने परीक्षा दी और 3,524 ने परीक्षा से दूरी बनायी। सुबह 8 बजे से शुरू हुई परीक्षा के लिए परीक्षार्थी सुबह सात से साढ़े सात बजे के बीच ही परीक्षा केन्द्र पंहुच गए थे।

error: Content is protected !!