Breaking News
.

नहीं जाएगी इमरान सरकार की कुर्सी, पाक संसद में हारने के बाद भी सत्तासीन रहने की मंत्री ने बताई ये वजह …

नई दिल्ली । इमरान खान रविवार को विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव का सामना करने के लिए तैयार हैं, इसलिए शनिवार को सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर कर विधानसभा की कार्यवाही को स्थगित करने की मांग की गई है। डॉन द्वारा रिपोर्ट की गई याचिका में कहा गया है कि संसद के सदस्य “पाकिस्तान की राजनीति और अखंडता के खिलाफ काम करने वाले विदेशी शत्रुतापूर्ण देशों के उकसावे पर काम कर रहे थे” और “साजिश रची। इमरान ने विदेशी साजिश में अमेरिका को निशाने पर लिया था।

रविवार को पाकिस्तान की संसद में अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग होनी है। इस बात की पूरी संभावना है कि इमरान खान रविवार को पीएम नहीं रह पाएंगे लेकिन इस बीच शनिवार को पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री शेख राशिद ने कहा कि भले ही प्रधान मंत्री इमरान खान 3 अप्रैल को अविश्वास प्रस्ताव हार जाते हैं, लेकिन वो फिलहाल पीएम बने रहेंगे। राशिद खान ने कहा कि जब तक कोई नया नेता शपथ नहीं लेता है, तब तक वह पद पर बने रहेंगे।

पाकिस्तान संविधान के अनुच्छेद 94 का उल्लेख करते हुए राशिद खान ने कहा कि विश्वास मत हारने पर भी इमरान खान फिलहाल पीएम बने रहेंगे। कब तक? उस पर कानून स्पष्ट नहीं है। हालांकि, आने वाले 24 घंटों में पाकिस्तान की राजनीति की स्थिति हर पल बदल सकती है।

मंत्री ने कहा, “जिन लोगों ने साजिश की है, उनके खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलाया जाना चाहिए,” उन्होंने कहा कि अब पाकिस्तान के सामने दो विकल्प हैं: एक जल्दी चुनाव, दो पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के सभी सांसदों ने अपनी सीटों से इस्तीफा दे दें। मंत्री ने कहा, “अगर सभी पीटीआई सदस्य इस्तीफा देते हैं, तो मैं देखना चाहता हूं कि वे देश पर शासन कैसे करते हैं।”

हालांकि इमरान खान के दावे के उलट अमेरिका ने कहा कि पाकिस्तान की सरकार गिराने में उनकी कोई दिलचस्पी नहीं है।

विपक्ष के इस कदम के पीछे विदेशी साजिश का आरोप लगाने वाले इमरान खान ने शुक्रवार को कहा था कि वह जल्दी चुनाव कराना पसंद करेंगे क्योंकि वह इस्तीफा नहीं देंगे। उन्होंने तीन विकल्प दिए थे- इस्तीफा, विश्वास मत और जल्दी चुनाव – और वह जल्दी चुनाव चुनना चाहते हैं।

error: Content is protected !!