Breaking News
.

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पर फूटा बाढ़ पीड़ितों का गुस्सा, कार पर फेंका कीचड़…

भोपाल। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को श्योपुर शहर में बाढ़ ग्रस्त इलाके का दौरा करते समय स्थानीय लोगों की नाराजी का सामना करना पड़ा। बाढ़ की विभीषिका के बाद जिंदगी के लिए जूझ रहे लोगों ने उनके वाहनों के काफिले पर कथित तौर पर कीचड़ भी फेंका। श्योपुर शहर मध्य प्रदेश के उत्तरी भाग में स्थित मुरैना लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा है। श्योपुर शहर और जिला इस सप्ताह की शुरुआत में भारी बारिश के कारण बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हुआ है। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर मुरैना से लोकसभा सांसद हैं और उन्हें बाढ़ से प्रभावित हुए लोगों की नाराजगी झेलनी पड़ रही है।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक तोमर शनिवार को जब बाढ़ पीड़ितों से मिलने शहर के कराटिया बाजार पहुंचे तो गुस्साए लोगों ने उनका घेराव किया। लोगों ने कहा कि वह बहुत देर से यहां आए हैं। जब वह रोती हुई महिलाओं को सांत्वना देने के लिए कार से नीचे उतरे तो लोग उनका पीछा करने लगे। बाद में गुस्साए लोगों ने कथित तौर उनके वाहनों पर कीचड़ और छोटी सूखी लकड़ियां फेंकीं।

स्थानीय लोगों ने तोमर से शिकायत की कि प्रशासन ने बाढ़ के बारे में समय पर लोगों को सतर्क नहीं किया और यह जिला प्रशासन की विफलता है। श्योपुर के एसपी संपत उपाध्याय ने कहा कि लोगों ने मंत्री से शिकायत की कि उन्हें राहत देर से पहुंची। उपाध्याय ने कहा कि मंत्री के काफिले का कोई वाहन क्षतिग्रस्त नहीं हुआ।

बाद में पत्रकारों से बात करते हुए केंद्रीय मंत्री ने स्वीकार किया कि प्रशासन ने ढिलाई बरती है। हालांकि, यह भी कहा कि एक बांध टूटने की अफवाह ने भी समस्या पैदा की। तोमर ने आश्वासन दिया कि जिले को हर तरह की सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। इस सप्ताह की शुरुआत में मध्य प्रदेश के उत्तरी हिस्से में ग्वालियर व चंबल क्षेत्र में बारिश के कारण कम से कम 24 लोगों की मौत हो गई और हजारों लोगों को बाढ़ प्रभावित इलाकों से सुरक्षित निकाला गया।

error: Content is protected !!