Breaking News
.

कोल परियोजनाओं में टेरर फंडिंग, अपराधियों ने पांच वाहनों में लगा दी थी आग, में NIA ने मारा छापा …

रांची । एनआईए लातेहार के बालूमाथ थाना क्षेत्र स्थित तेतरियाखाड़ कोलियरी में आगजनी और गोलीबारी के मामले की जांच कर रही है। एनआईए की रांची ब्रांच ने कांड संख्या आरसी 01/ 2021 दर्ज किया था। इस मामले की जांच एनआईए के डीएसपी रैंक अधिकारी कर रहे हैं। एनआईए ने आईपीसी की धारा 147, 148, 149, 353, 504, 506, 307, 427, 335, 386, 387, 120 बी 121ए और 216, आर्म्स एक्ट धारा 25 (1) (ु), 26, 27 और 35. विस्फोटक अधिनियम की धारा 3 और 4. यूएपीए धारा 10, 13, 16 (1), 20 और 23 इसके अलावा सीएलए धारा 17 के तहत मामला दर्ज किया गया था।

एनआईए ने लातेहार के बालूमाथ स्थित तेतरियाखाड़ कोलियरी में जबरन वसूली और सरकारी कार्यों में बाधा डालने के मामले में अमन साव और सुजीत सिन्हा के गुर्गों के दो ठिकाने पर छापेमारी की है। एनआईए की टीम ने रविवार को तेतरियाखाड़ कोलियरी में आगजनी की घटना में शामिल आरोपी के हजारीबाग जिला के केरेडारी थाना क्षेत्र स्थित बुंडू गांव में दो ठिकाने पर छापेमारी की है। गिरफ्तार और फरार आरोपियों के ठिकाने पर छापेमारी के दौरान एनआईए की टीम ने डिजिटल उपकरण और अन्य आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद किया है।

जांच में यह बात सामने आयी है कि अपराधी सुजीत सिन्हा और अमन साहू ने शाहरुख और प्रदीप गंझू समेत अन्य उग्रवादियों के साथ मिलकर हत्या, जबरन वसूली और आपराधिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए धन जुटाने के लिए कई साजिश रची थी।। उग्रवादी गिरोह कोयला परिवहन क्षेत्रों में हत्या और आतंक पैदा करने के लिए एके-47 सहित कई अत्याधुनिक स्वचालित हथियार खरीद रहा था।

18 दिसंबर 2020 की देर शाम लातेहार जिले के बालूमाथ थाना क्षेत्र में अपराधियों ने जमकर उत्पात मचाया था। हथियारबंद अपराधियों ने सीसीएल की तेतरियाखाड़ कोलियरी में चार ट्रक और एक बाइक को आग के हवाले कर दिया था। इसके अलावा अपराधियों द्वारा की गई गोलीबारी में एक व्यक्ति घायल हो गया था। इस घटना की जिम्मेवारी अपराधी सुजीत सिन्हा गिरोह के प्रदीप गंझू ने लिया था।

error: Content is protected !!