Breaking News
.

टोक्यो ओलंपिक में हारने वाली शटलर ने पीवी सिंधु को किया पराजित…

नई दिल्ली। ओलंपिक मेडल जीतने वाली पीवी सिंधू को जापान की शीर्ष वरीयता प्राप्त अकाने यामागुची ने पराजित कर दिया। आपको बता दें यामागुची को सिंधु ने टोक्यो ओलंपिक के क्वार्टरफाइनल में मात दी थी। टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर भारतीय शटलर ने इतिहास रचा था। इस मैच से पहले यामागुची के खिलाफ सिंधू का रिकॉर्ड 12-7 का था और इस साल टोक्यो ओलंपिक समेत दोनों मैचों में उन्होंने जापानी शटलर को हराया था। लेकिन आज सिंधु कमाल नहीं कर पाईं और यामागुची से हार गईं। यह एकतरफा जापान की शटलर ने 32 मिनट के भीतर 13-21, 9-21 से अपने नाम किया।

आज के मुकाबले की बात करें तो तीसरी वरीयता प्राप्त पीवी सिंधू अपने सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में नहीं थी और दोनों गेम में शुरू ही से पिछड़ गईं। दूसरे गेम में कुछ समय के लिए सिंधु ने बढ़त बनाई लेकिन यामागुची ने शानदार वापसी करके कोई मौका नहीं दिया।

इसी साल चंद दिनों पहले ही पीवी सिंधु ने अकाने यामागुची को मात दी थी। सिंधु ने खेलों के महाकुंभ में हुए क्वार्टरफाइनल मुकाबले में जापान की शटलर को 21-13, 22-20 से मात देकर सेमीफाइनल में जगह बनाई थी। हालांकि सेमीफाइनल में सिंधु को शीर्ष वरीयता प्राप्त ताई जू यिंग ने हरा दिया था।

इसके बाद ब्रॉन्ज मेडल मैच में सिंधु ने चीन की ही बिंग जिआओ को हराकर अपना दूसरा ओलंपिक मेडल जीता था। इससे पहले रियो ओलंपिक में सिंधु ने सिल्वर मेडल जीता था। रियो में सिंधु को फाइनल मुकाबले में स्पेन की कैरोलिना मारिन से हार झेलनी पड़ी थी। अब जापानी खिलाड़ी का सामना चौथी वरीयता प्राप्त अन सियंग और थाइलैंड की पी चाइवान के बीच होने वाले मैच के विजेता से होगा। इस टूर्नामेंट में सिधु की हार के बाद भारत की उम्मीदें अब किदाम्बी श्रीकांत पर टिकी हैं जो पुरूषों के सेमीफाइनल में तीसरी वरीयता प्राप्त डेनमार्क के एंडर्स एंटोंसेन से खेलेंगे।

error: Content is protected !!