नई दिल्ली

रोहिंग्या मुसलमान विवाद: दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पूछा, किसने दिया फ्लैट देने का आदेश, गृह मंत्रालय करे जांच ….

नई दिल्ली। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने गुरुवार को कहा कि, उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर यह पता लगाने और जांच कराने का आग्रह किया है कि रोहिंग्या मुसलमानों को अपार्टमेंट में स्थानांतरित करने का निर्णय किसके निर्देश पर लिया गया था। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री सिसोदिया ने कहा,”हमने रोहिंग्या मुसलमानों को फ्लैट में स्थानांतरित करने का कोई निर्णय नहीं लिया, केंद्र भी कहता है कि ऐसा नहीं हुआ, फिर किसने किया?”

एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने गृह मंत्री से रोहिंग्या मुसलमानों को स्थानांतरित करने के मुद्दे पर केंद्र के रुख को स्पष्ट करने का भी आग्रह किया है।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री सिसोदिया ने दावा किया कि केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी के रोहिंग्याओं को स्थानांतरित करने के कदम पर किए गए ट्वीट का उनकी पार्टी ‘आप’ और अन्य लोगों द्वारा विरोध किए जाने के बाद गृह मंत्रालय ने बुधवार को इस मुद्दे पर स्पष्टीकरण दिया।

हरदीप पुरी ने ट्वीट किया कि राष्ट्रीय राजधानी में रोहिंग्या शरणार्थियों को आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए फ्लैट में स्थानांतरित किया जाएगा, इसके कुछ घंटे बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बुधवार को इस तरह के किसी भी कदम से इनकार किया और दिल्ली सरकार को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि “अवैध विदेशी” उनके प्रत्यर्पण तक हिरासत केंद्रों में रहें।

केंद्रीय गृह मंत्रालय के रोहिंग्या मुसलमानों को फ्लैट देने वाले दावे को खारिज किया है। सिसोदिया ने बुधवार को आरोप लगाया था कि भाजपा नेतृत्व वाली सरकार दिल्ली में रोहिंग्या शरणार्थियों को “स्थायी निवास” देने की कोशिश कर रही है।

Related Articles

Back to top button