Breaking News
.

दिल्ली में बंधक हैं राजद सुप्रीमो लालू यादव, तेज के आरोप को आडवाणी का जिक्र कर तेजस्वी ने किया खारिज …

पटना । शनिवार को लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने अपने एक बयान से राष्ट्रीय जनता दल और अपने परिवार के आंतरिक स्थिति गर्म कर दिया था। छात्र जनशक्ति परिषद के एक कार्यक्रम में तेज प्रताप यादव ने कहा था कि लालू प्रसाद को दिल्ली में बंधक बना लिया गया है। उन्हें पटना नहीं आने दिया जा रहा है। आरजेडी में कुछ लोग राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने का सपना देख रहे हैं। सियासी हलकों में चर्चा है कि तेज प्रताप यादव का यह बयान अपने छोटे भाई तेजस्वी यादव की ओर इशारा कर रहा है।

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटों के बीच फिर से बयानबाजी पॉलिटिक्स शुरू हो गई है। दिल्ली से पटना लौटे छोटे भाई तेजस्वी यादव ने बड़े भाई तेजप्रताप यादव के उस बयान पर प्रतिक्रिया दी है जिसमें तेज प्रताप ने लालू यादव को दिल्ली में बंधक बनाए जाने की बात कही। तेजप्रताप यादव ने बयान देकर बिहार की सियासत को गर्म कर दिया था।

रविवार को तेजस्वी दिल्ली से पटना पहुंचे। मीडिया कर्मियों से बातचीत के दौरान तेजस्वी यादव ने कहा कि लालू यादव का व्यक्तित्व इतना बड़ा है कि उन्हें बंधक बनाने की बात बहुत छोटी है। तेजस्वी ने कहा लालू प्रसाद यादव लंबे समय तक बिहार के मुख्यमंत्री और देश के रेल मंत्री रहे। लालूजी ने लालकृष्ण आडवाणी को गिरफ्तार करने जैसा काम किया। इस तरह लालू प्रसाद यादव की देश और बिहार में बड़ी पहचान है।

इस बीच सबसे दिलचस्प बात यह रही की तेजस्वी यादव ने एक बार भी तेज प्रताप का नाम नहीं लिया। अपने परिवारिक मसले से ध्यान हटाने के लिए तेजस्वी यादव ने एक बार फिर नीतीश कुमार पर हमला किया। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने फिर दुहराया कि नीतीश कुमार थके हुए मुख्यमंत्री हैं। उनसे बिहार संभल नहीं रहा है। नीति आयोग की रिपोर्ट को हथियार बनाकर तंज कसते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि यही बिहार की असलियत है।

error: Content is protected !!