Breaking News
.

तीसरी लहर की आशंका के बीच राहत: दिसंबर तक पूरा राज्य हो जाएगा वैक्सीनेट, सितंबर तक सभी को लग जाएगा पहला डोज…

भोपाल। मध्यप्रदेश में दिसंबर तक 18 प्लस की पूरी आबादी को वैक्सीन लग जाएगी। सितंबर तक सभी को पहला डोज लग जाएगा। यह दावा प्रदेश में कोरोना संकट को लेकर हाईकोर्ट में स्वत: संज्ञान वाली याचिका पर मंगलवार 10 अगस्त को सरकार की ओर से पेश की गई 11वीं एक्शन टेकन रिपोर्ट में किया गया है। हाईकोर्ट में मामले की अगली सुनवाई 6 सितंबर को होगी।

तीसरी लहर की आशंका के बीच मध्यप्रदेश के लोगों के लिए यह एक राहत देने वाली खबर है। उक्त याचिका पर हाईकोर्ट में मंगलवार को सुनवाई हुई। इसमें राज्य सरकार की ओर से कोरोना संकट काल में किए गए कामों का विवरण पेश किया गया तथा आने वाले संकट को देखते हुए भविष्य में सरकार की तैयारियों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। राज्य सरकार ने अपनी 11वीं एक्शन टेकन रिपोर्ट में बताया कि सितंबर 2021 तक पूरे प्रदेश में 18 प्लस की आबादी को पहला डोज लग जाएगा। वहीं, दिसंबर तक 18 प्लस की पूरी आबादी को दोनों डोज लगा दिया जाएगा। प्रदेश में ऑक्सीजन की भी कमी नहीं होगी। सरकार की ओर से 188 ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। इसमें 61 प्लांट लग चुके हैं। प्रदेश के 52 जिलों में से 14 में सिटी स्कैन मशीन लगी, शेष में संसाधनों की कमी की वजह से सिटी स्कैन मशीन नहीं लग पाई है। सरकार ने कोर्ट को बताया कि इसके लिए भी टेंडर जारी कर दिया है।

हाईकोर्ट को सरकार ने अपनी रिपोर्ट में बताया गया कि 13 मेडिकल कॉलेजों में 1280 वेंटिलेटर उपलब्ध कराए जा चुके हैं। सितंबर 2021 तक प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में 16 हजार 977 बेड उपलब्ध हो जाएंगे। ऑक्सीजन, आईसीयू, एचडीयू और पीआईसीयू के 7 हजार 595 बेड भी उपलब्ध हो जाएंगे। राज्य सरकार की रिपोर्ट से संतुष्ट हाईकोर्ट ने मामले में अगली सुनवाई 6 सितंबर को तय की है।

error: Content is protected !!