Breaking News
.

तीसरी लहर को लेकर AIIMS डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया बोले- वायरस से लड़ने के लिए भारत में प्रयाप्त इम्यूनिटी …

नई दिल्ली। कोरोना की दूसरी लहर में देश में सामने आए मामले और मरीजों की मौत ने सरकार से लेकर जनता तक की चिंता बढ़ा दी थी। लहर भी ऐसी थी कि पूरी स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई। उस दौरान दवाई और ऑक्सीजन की कमी के कारण कोरोना मरीजों की मौत की खबरें आम थी। हालांकि राज्य और केंद्र सरकार का दावा है कि ऑक्सीजन की कमी के कारण देश में मौत नहीं हुई। इस बीच दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया का कहना है कि आने वाले महीनों में वायरस नाटकीय रूप से अपने वेरिएंट नहीं बदलेगा। उन्होंने यह भी कहा कि अब देश में प्रयाप्त मात्रा में लोगों में इस महामारी से लड़ने की क्षमता है।

डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि हम यह अनुमान नहीं लगा सकते हैं कि वायरस कैसे व्यवहार करेगा, लेकिन ऐसा लगता है कि आने वाले महीनों में वायरस इतना नाटकीय रूप से उत्परिवर्तित नहीं होगा। उन्होंने कहा कि सीरो सर्वे के अनुसार, जनसंख्या में प्रतिरक्षा की पर्याप्त मात्रा है।

हालांकि गुलेरिया ने यह भी कहा कि अगर अगले कुछ महीनों तक, जब तक कि हमारी आबादी के एक बड़े हिस्से का टीकाकरण नहीं हो जाता, हमें भीड़-भाड़, गैर-जरूरी यात्रा से बचना चाहिए और कोविड-उपयुक्त व्यवहार बनाए रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि हम तीसरी लहर को अपना पैर पसारने से फिलहाल रोक सकते हैं।

भारत में एक दिन में कोविड-19 के 35,342 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,12,93,062 हो गई। वहीं, 483 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,19,470 हो गई। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होकर 4,05,513 हो गई है, जो कुल मामलों का 1.3 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मामलों में कुल 3,881 कमी आई है। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 97.36 प्रतिशत है।

आंकड़ों के अनुसार, अभी तक कुल 45,29,39,545 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है, जिनमें से 16,68,561 नमूनों की जांच बृहस्पतिवार को की गई। देश में नमूनों के संक्रमित आने की दैनिक दर 2.12 प्रतिशत है। यह पिछले 32 दिनों से लगातार तीन प्रतिशत से कम है। नमूनों में संक्रमण की पुष्टि की साप्ताहिक दर 2.14 प्रतिशत है। अभी तक कुल 3,04,68,079 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। कोविड-19 से मृत्यु दर 1.34 प्रतिशत है।

मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में संक्रमण से अभी तक कुल 4,19,470 लोगों की मौत हुई है, जिनमें से महाराष्ट्र के 1,31,038, कर्नाटक के 36,293, तमिलनाडु के 33,838, दिल्ली के 25,040, उत्तर प्रदेश के 22,743 और पश्चिम बंगाल के 18,040 लोग थे। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि अभी तक जिन लोगों की मौत हुई है, उनमें से 70 प्रतिशत से ज्यादा मरीजों को अन्य बीमारियां भी थीं।

error: Content is protected !!